अंतर्राष्ट्रीय

उत्तर कोरिया के मिसाइल टेस्ट के बाद अमेरिका ने तैनात किए लड़ाकू विमान

वाशिंगटन: उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने शुक्रवार को एक और बैलिस्टिक मिसाइल लॉन्च कर दुनिया में एक बार फिर से हड़कंप मचा दिया था। तानाशाह ने रविवार को कहा कि इसने अपने दूसरे इंटरकॉन्टिनेंटल बलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) का परीक्षण प्योंगयांग पर नया प्रतिबंध लगाने के कारण अमेरिका को चेताने के लिए किया है। उत्तर कोरिया ने साथ ही धमकी दी कि अगर वॉशिंगटन की तरफ से सैन्य उकसाहट सामने आई थी इसका जवाब दिया जाएगा।

उधर, किम जोंग की इस हरकत के बाद अमेरिका ने उत्तर कोरिया की घेरेबंदी शुरू कर दी है। मिसाइल परीक्षण के जवाब में अमेरिका ने रविवार को कोरियाई प्रायद्वीप के पास बी-1बी लड़ाकू विमान तैनात कर दिए हैं।

जापान के रक्षा मंत्री फुमियो किशिदा ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस तैनाती में जापान के मित्सुबिशी एफ-2 लड़ाकू विमानों के साथ दो अमेरिकी बमवर्षक शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार, ग्वाम के एंडर्सन वायुसेना अड्डे पर मौजूद इन विमानों को अमेरिका ने पहली बार तैनात नहीं किया है। यह कदम उत्तर कोरिया द्वारा उकसावे वाली कार्रवाई के जवाब में अपनी सैन्य शक्ति के प्रदर्शन को लेकर उठाया गया है।

अमेरिका ने किम जोंग-उन की सरकार द्वारा चार जुलाई को पहले आईसीबीएम परीक्षण के बाद और मई में छोटी दूरी की मिसाइल दागे जाने के बाद भी कोरियाई प्रायद्वीप में बी-1बी बमवर्षक तैनात किए थे। वाशिंगटन ने अमेरिकी विद्यार्थी ओट्टो वार्मबीयर के निधन की घोषणा के बाद भी 20 जून को बमवर्षक तैनात किए थे।

Back to top button