अमरीका-फ्रांस ने दिया नए ईरान परमाणु समझौते का संकेत

वॉशिंगटनः अमरीका व फ्रांस ने ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर एक नया समझौता होने के संकेत दिए हैं। फ्रांस के राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रों ने मंगलवार को अमरीका के साथ अन्य कई मुद्दों पर द्विपक्षीय असहमति के बीच नए समझौते को तैयार करने के लिए अन्य पक्षों के साथ मिलकर काम करने का प्रस्ताव रखा।

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में मैक्रों ने कहा कि मौजूदा ईरान परमाणु समझौता ‘पर्याप्त’ नहीं है। ईरान परमाणु समझौते को अंतर्राष्ट्रीय तौर पर जेसीपीओए के नाम से जाना जाता है और इस पर 2015 में हस्ताक्षर हुआ था। हालांकि, उन्होंने कहा, “”यह फिर भी हमें कम से कम 2025 तक उसकी परमाणु गतिविधियों पर कुछ नियंत्रण रखने में समर्थ बनाता है।”उन्होंने कहा, “इसलिए हम अब से ईरान के साथ नए समझौते पर काम करना चाहते हैं।”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वार्ता के बाद ट्रंप ने भी बहुत बड़ा समझौता करने की बात कही। मैक्रों ने कहा कि नए समझौते में ईरान के बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम व मध्य पूर्व में इसकी भूमिका शामिल होनी चाहिए। गौरतलब है कि ट्रंप 12 मई की समय सीमा वाली ईरान व विश्व शक्तियों के बीच बराक ओबामा के काल में हुए परमाणु समझौते के विस्तार को खारिज करने की धमकी दे रहे हैं।

Back to top button