अंतर्राष्ट्रीयबिज़नेस

अमेरिका के ट्रंप प्रशासन ने Xiaomi Corp और CNOOC को किया ब्लैकलिस्ट

चीनी सेना से जुड़ाव के आरोप में इन कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया गया

वाशिंगटन: चीनी स्मार्टफोन कंपनी शायोमी Xiaomi Corp और सरकारी तेल कंपनी चाइना नेशनल ऑफशोर ऑयल कॉर्प (CNOOC) को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ब्लैकलिस्ट में डाल दिया है. चीनी सेना से जुड़ाव के आरोप में इन कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया गया है.

राष्ट्रपति चुने गये जो ​बाइडेन के सत्ता संभालने से पहले राष्ट्रपति ट्रंप की यह चीन के खिलाफ बड़ी कार्रवाई है. ​दक्षिण चीन सागर में बने तनाव की वजह से यह अमेरिका की चीन पर दबाव बनाने की कोशिश है.

न्यूज एजेंसी ब्लूमबर्ग के अनुसार गहरे सागर में तेल का अन्वेषण करने वाली चीन की मुख्य कंपनी चाइना नेशनल ऑफशोर ऑयल कॉर्प के बारे में कहा गया है कि वह बिना इजाजत के अमेरिका से किसी प्रकार की टेक्नोलॉजी हासिल नहीं कर सकती.

गौरतलब है कि इसके पहले दिसंबर 2020 में अमेरिकी सरकार ने 60 चीनी कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया था. अमेरिका ने Xiaomi को उन नौ कंपनियों में शामिल किया है जिनको रक्षा विभाग की ब्लैक लिस्ट में शामिल किया गया है.

अन्य कंपनियों में चीन की विमान बनाने वाली सरकारी कंपनी कॉमर्शियल एयरक्राफ्ट कॉर्प ऑफ चाइना लिमिटेड (Comac) भी ​शामिल है जो नैरो बॉडी प्लेन बनाती है. इसके द्वारा चीन सरकार बोइंग और एयरबस से मुकाबला करना चाहती है.

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नवंबर में एक एग्जीक्यूटिव आदेश पर दस्तखत किये थे, जिसके मुताबिक अमेरिका के रक्षा मंत्रालय ने जिन कंपनियों को अपनी ब्लैकलिस्ट सूची में शामिल किया है उनसे अमेरिकी निवेशकों को अपनी हिस्सेदारी नवंबर 2021 तक बाहर निकालनी होगी.

गौरतलब है कि स्मार्टफोन की बिक्री के मामले में Xiaomi ने अमेरिका की मशहूर कंपनी Apple Inc को पीछे छोड़ दिया है. तेल कंपनी Cnooc दक्षिण चीन सागर के उन इलाकों में अन्वेषण कार्य करती है जिसको लेकर पड़ोसी देशों से विवाद है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button