छत्तीसगढ़हेल्थ

गंभीर श्वसन रोग से पीड़ित बच्चों के लिए मास्क का इस्तेमाल है जरूरी

राजशेखर नायर, नगरी

• बच्चों में मास्क के इस्तेमाल पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दिया गाइडलाइन
• मास्क लगाने में परेशानी है तो बच्चों के लिए है फेस शील्ड का विकल्प
• बच्चों को पैरेंट्स व स्कूल प्रबंधन मास्क इस्तेमाल के प्रति करें जागरूक
जगदलपुर: वैश्विक महामारी कोविड 19 का असर बच्चों पर भी पड़ा है. कोरोना काल में बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए उनके पोषण का ध्यान रखने के अलावा सुरक्षात्मक नियमों की जानकारी देना व उसका पालन करवाना आवश्यक है. कोरोना संक्रमण के जोखिम की रोकथाम के लिए बच्चों में मास्क के इस्तेमाल को बढ़ावा दिये जाने की जरूरत पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी बल दिया है. साथ ही शारीरिक दूरी के नियम का पालन, हाथों की स्वच्छता और घरों के अंदर के हिस्सों का हवादार होना भी जरूरी बताया है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन(डबल्यूएचओ) ने एडवाइस ऑन द यूज ऑफ मास्क फॉर चिल्ड्रेन इन द कम्यूनिटी इन द कंटेक्सट ऑफ कोविड 19 नाम से जारी गाइडलाइंस में उम्र के अनुसार बच्चों में नॉन मेडिकल मास्क यानी कपड़ों से बनाये गये मास्क के इस्तेमाल को लेकर विशेष चर्चा की है.

मास्क के इस्तेमाल के बारे में दे जरूरी जानकारी:

डबल्यूएचओ के मुताबिक 6 से 11 साल के उम्र के बच्चों को उन जगहों पर मास्क जरूर लगाने के लिए कहें जहां पर अधिक लोग मौजूद हैं और संक्रमण का खतरा हो सकता है. डबल्यूएचओ ने सलाह दी है कि बच्चों को मास्क के बारे में जानकारी और उसके पहनने के तरीके को विस्तार से बताया जाना चाहिए. जब बच्चे मास्क लगायें तो ध्यानपूर्वक देख लें कि उन्होंने सही से मास्क लगाया है या नहीं. वहीं डबल्यूएचओ ने 5 साल या इससे कम उम्र के बच्चों के लिए मास्क अनिवार्य नहीं बताया है. तथा बच्चों के खेलते समय व शारीरिक गतिविधियों के दौरान मास्क लगाने को जरूरी नहीं कहा है.

माता पिता व स्कूल प्रबंधन बच्चों को करें जागरूक:

डबल्यूएचओ ने माता पिता सहित स्कूल प्रबंधन, स्वास्थ्य संबंधी नीतिगत फैसले लेने वाली एंजेंसियां व स्वास्थ्य विभाग द्वारा संक्रमण के बारे में पर्याप्त जानकारी देने और मास्क का इस्तेमाल करवाने की बात भी कही है. संगठन के अनुसार छोटी उम्र के बच्चों की तुलना में बड़ी उम्र के बच्चों के संक्रमण से प्रभावित होने और उनके द्वारा संक्रमण फैलाने में उनकी सक्रिया भूमिका देखी गयी है. उनके साझा अध्ययन के मुताबिक 1 से 7 प्रतिशत बच्चों में कोविड 19 मामले होने की सूचना है लेकिन अन्य आयु समूह की अपेक्षाकृत उनकी मौत बहुत कम है.

गंभीर श्वसन रोग से पीड़ित बच्चों के लिए मास्क जरूरी:

डबल्यूएचओ के अनुसार गंभीर श्वसन रोग से पीड़ित बच्चों को हर हालात में मास्क पहनाना आवश्यक है. पांच साल या उससे कम उम्र के बच्चों को शारीरिक दूरी रखने, बार बार हाथ धोने व व्यक्तिगत साफ सफाई की जानकारी देनी चाहिए. उन्हें यह भी बताना है कि कब और किन जगहों पर उन्हें मास्क लगाना जरूरी है. यदि बच्चे मास्क सहन नहीं कर पाते हैं उनके लिए फेस शील्ड दूसरा विकल्प है. साथ ही उन्हें बीमार लोगों के संपर्क में आने नहीं दिया जाना चाहिये।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button