अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक ने नेतृत्व विकास पर दिए उपयोगी टिप्स

दीपक वर्मा

आरंग (रायपुर)।

राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद रायपुर छत्तीसगढ़ की महत्वपूर्ण कार्ययोजना के अंतर्गत विकासखंड शिक्षा अधिकारी डी एस चौहान व विकासखंड श्रोत समन्वयक मातलिनन्दन वर्मा के निर्देशन में प्रधान पाठकों का विद्यालय नेतृत्व विकास एवम प्रबंधन पर 2 दिवसीय प्रशिक्षण संकुल केन्द्र आरंग में सम्पन्न हुआ ।बीइओ चौहान सर ने अपने वक्तव्य में कहा कि अवसर किसी भी समय दरवाजा खटखटा सकता है।

हमे लाभ लेने आना चाहिए ,गिलास में पानी आधा भरा है ऐसा धनात्मक दृष्टिकोण रखकर अवसर तलाश कर विद्यालय विकास में वांछित परिवर्तन लाया जा सकता है ।

बीआरसीसी वर्मा सर ने कहा कि किसी भी संगठन या संस्था के समस्याओं के निवारण व परिवर्तन के लिये नवाचारों को संभावित दृष्टिकोण के रूप मे देखा जा सकता है तथा इसके लिए संस्था प्रमुख द्वारा प्रेरणा देना व वातावरण बनाना आवश्यक होता है।

साथ ही उन्होंने संवाद और विचार मंथन पर बात की ।मास्टर ट्रेनर सहायक विकास खंड शिक्षा अधिकारी क्रमशः आलोक चांडक ,दिनेश शर्मा ने प्रधान पाठकों से समस्याओं को आमंत्रित कर निराकरण की दिशा में मित्रवत व्यवहार, बेहतर तालमेल, संवाद,नवाचार व समुदाय के सहयोग पर जोर दिया ।प्राचार्य बी एल वर्मा ने अपने सेवाकाल के अनुभवों के आधार पर प्रोत्साहित करते हुए कहा कि जहां चाह है वहीँ राह है ,संस्था प्रमुख जब तक अपने कार्य की छाप नही छोड़ेगा तब तक अन्य से कार्य कुशलता की अपेक्षा रखना उचित नही है ।कार्यक्रम के दूसरे दिन बुधवार को एडिस नल एसपी सुखनंदन राठौर ने नेतृत्व विकास पर टिप्स देते हुए कहा कि शिक्षक को अपनी जिम्मेदारी समझनी होगीं ताकि बच्चों का अपराध के प्रति जुड़ाव न हो ।

जिला डाइट रायपुर से आये लेक्चरर सरोज मिश्रा व अर्चना पेरूलकर ने समूह कार्य का निरीक्षण करते हुए सभी को स्मार्ट फोन से अपडेट होने व टेक्नोलॉजी के सही उपयोग की जानकारी दी ।मयूर स्कूल रायपुर के निर्देशक फैजल अहमद ने जोरदार मोटिवेशनल क्लास लेते हुए कहा कि बच्चों को भूत से,जवान को भविष्य से ,बूढो को मौत से डराया जाता है जबकी डर के आगे जीत है।

उन्होंने शिक्षक को राष्ट्र निर्माता बताकर खुद को अहमियत देने की बात कही वही लइका मड़ई नोडल प्राचार्य आर बंडारू ने कहा कि नेतृत्व विकास में बच्चे सर्वोपरि है और अनुशासन के बिना लक्ष्य अधूरा है अतः टाइम मैनेजमेंट पर ध्यान दिया जाना चाहिए।

इस अवसर पर आरंग विकासखंड के 19 संकुल के 110 प्रधान पाठक द्वारिका साहू,विनोद गुप्ता, ईश्वर धीवर, बी बी वर्मा ,बीर सिंह वर्मा,गोपाल चंद्राकर, संतोष देवांगन,संतोष साहू,स्मृति पांडे,सुमित्रा धृतलहरे, संज्ञा चंद्राकर, गरीबा साहू,नीलोफर खान,सत्रुहन साहू आदि एवम अरविन्द वैष्णव, अभिषेक तिवारी, दीपक दुबे ने काव्य पाठ के द्वारा जागरूक किया।

1
Back to top button