उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लगाया जनता दरबार

फरियादी अपनी परेशानियों को लेकर सीएम योगी से मिले

गोरखपुर:गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर के हिंदू सेवाश्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का जनता दरबार बृहस्पतिवार को लंबे समय बाद लगा. इस दौरान सीएम ने करीब डेढ़ सौ लोगों की फरियाद सुनी.

लोगों को भरोसा दिया कि उनकी समस्या का समाधान होगा. किसी के साथ अन्याय नहीं होने पाएगा. मौके पर मौजूद अधिकारियों से कहा कि हर मामले का निपटारा सही तरीके से होना चाहिए.

इसी दौरान जब सीएम योगी फरियादियों से मिलने जा ही रहे थे तभी अचानक एक मौलवी ने उनसे अकेले में मिलने की इच्छा जताई. वहां पहुंचे मौलवी ने अचानक से सीएम योगी को आवाज लगाकर उन्हें रोक लिया.

इस दौरान सीएम ने भी बड़ी ही विनम्रता से उनका हालचाल पूछा. इसके बाद बुजुर्ग मौलवी ने कहा कि सीएम योगी उन्हें दो मिनट अकेले में दें. उन्हें कुछ गोपनीय बात करनी है. बुजुर्ग मौलवी की बात सुनकर वहां मौजूद हर शख्स हैरान रह गया. वहीं इसके जवाब में सीएम योगी ने उनसे कहा कि वह जो भी कहना चाहते हैं उसे लिखकर दे दें. वह उसे पढ़ लेंगे.

सीएम योगी से क्या कहना चाहते थे मौलवी?

इस बात को सिनते ही बुजुर्ग मौलवी वहां से बिना कुछ कहे ही चले गए. हालांकि वह कौन थे और सीएम योगी से क्या कहना चाहते थे, उनका नाम क्या है ये कोई भी नहीं जानता है. न ही किसी को ये पता है कि वह कहां चले गए. आखिर ऐसी क्या बात थी जो वह सीएम योगी से अकेले में करना चाहते थे. हर कोई यही बात सोच रहा है.

सीएम योगी का जनता दरबार

बतादें कि कोरोना महामारी की वजह से मार्च से ही जनता दरबार बंद है. संक्रमण कम होने के बाद अब सीएम योगी ने एक बार फिर से जनता दरबार लगाकर फरियादियों की परेशानी सुनी. हालांकि जनता दरवार की जानकारी पहले से नहीं दी गई थी. इसीलिए दूसरे जिलों के लोग वहां नहीं पहुंचे थे. आसपास के करीब 150 फरियादी मंदिर में सीएम योगी से मिलने पहुंचे थे. इस दौरान सीेम ने भी एक-एक कर सभी से मुलाकात की और उनकी परेशानियों को सुना.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button