आधार कार्ड-बैंक अकाउंट नहीं, हॉस्पिटल गेट पर हुई महिला की डिलिवरी

यह घटना जौनपुर के शाहगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की है

आधार कार्ड-बैंक अकाउंट नहीं, हॉस्पिटल गेट पर हुई महिला की डिलिवरी

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में चिकित्सकीय लापरवाही का एक ताजा मामला सामने आया है, जहां एक गर्भवती महिला को हॉस्पिटल के गेट पर ही डिलिवरी के लिए मजबूर होना पड़ा। अस्पताल प्रशासन ने कथित तौर पर बैंक अकाउंट और आधार कार्ड नहीं होने की वजह से महिला को भर्ती करने से इनकार कर दिया था।
[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

जानकारी के अनुसार यह घटना जौनपुर के शाहगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की है। हॉस्पिटल स्टाफ की लापरवाही की वजह से महिला को मजबूरन हॉस्पिटल गेट के बाहर ही डिलिवरी के लिए बाध्य होना पड़ा। नवजात बच्चा करीब एक घंटे तक वहीं फ्लोर पर पड़ा रहा।

महिला के पति ने बताया, ‘जब हम हॉस्पिटल पहुंचे तो स्टाफ ने कुछ दस्तावेजों की मांग की, जिसके ना होने पर भर्ती करने से इनकार कर दिया गया। जैसे ही हम बाहर निकल रहे थे, तभी मेरी पत्नी ने गेट के बाहर ही बच्चे को जन्म दे दिया।’

अस्पताल प्रशासन की इस लापरवाही का विरोध करने वाले पास से ही गुजर रहे एक शख्स ने कहा, ‘लेबर पेन से जूझ रही महिला और हॉस्पिटल के गेट पर बच्चे की डिलिवरी की तस्वीर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के उचित हेल्थ केयर सुविधाओं के दावों को खारिज करती है। यह सरकार के सभी बड़े-बड़े दावों की पोल खोलती हुई तस्वीरें हैं।’

वहीं मेडिकल सुपरिटेंडेंट ने कहा, ‘डॉक्टर ने महिला को जिला अस्पताल रेफर किया। रेफर करते समय उसने बताया कि उसे कोई परिचित वहां पर ले जाएगा। गेट पर पहुंचने पर उसे लेबर पेन महसूस हुआ। उसे फौरन अंदर ले आया गया और उसने बच्चे को जन्म दिया। दोनों ही अब सुरक्षित हैं।’

advt
Back to top button