पुलिस कॉन्स्टेबल ने हड़प ली रेप पीड़िता की सहायता राशि

गाजियाबाद: यूपी पुलिस एक बार फिर सवालों के घेरे में है। आरोप है कि एक कॉन्स्टेबल और महिला दरोगा ने एक रेप पीड़िता को सहायता राशि के रूप में मिले 3 लाख रुपये हड़प लिए। इस मामले में पीड़ित परिवार की ओर से एसएसपी से शिकायत करने के बाद आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

एसएचओ धीरेंद्र सिंह ने बताया कि रिपोर्ट के आधार पर आरोपी सिपाही को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है, जबकि महिला दरोगा की भूमिका की जांच की जा रही है। दोषी पाए जाने पर आरोपी महिला दरोगा के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

जानकारी के अनुसार, लड़की के साथ फरवरी 2016 में रेप हुआ था। उसकी मां ने बताया कि बेटी से रेप के बाद इस केस की आईओ (जांच अधिकारी) प्रतिमा उनके घर आई और पूरी मदद करने का आश्वासन दिया।

उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार से रेप पीड़िता को मिलने वाली आर्थिक मदद मदद भी दिलाएगी। इसके लिए उनसे कुछ फॉर्म भरवाए गए और पत्र लिखवाए गए।

पीड़िता की मां के अनुसार, उनके पास बैंक अकाउंट खुलवाने के लिए पेपर नहीं थे। ऐसे में आईओ एक दिन अपने साथ सिपाही समीर को लेकर आईं।

समीर ने बताया कि वह बच्ची के मामा की तरह है और पूरी मदद करेंगे। इसके बाद सिपाही ने मई 2017 में उनकी आईडी बनवाकर घंटाघर स्थित ग्रामीण बैंक में खाता भी खुलवा दिया। खाता खुलवाने के दौरान समीर ने खुद को बच्ची का मामा बताया था।

बताया गया कि जुलाई में इस खाते में सहायता के रूप में तीन लाख रुपये की राशि भी आ गई। लड़की की मां ने बताया कि कुछ दिन बाद ही आरोपी महिला दरोगा ने उन्हें पासबुक और खाते के दूसरे पेपर लेकर आने को कहा।

इसके लिए उन्हें धमकी दी गई कि अगर पेपर लेकर नहीं आई, तो जेल भेज दूंगी या एनकाउंटर कर दूंगी। इसके बाद पीड़िता वह पेपर लेकर पहुंच गई। आरोप है कि यहां सिपाही ने एटीएम कार्ड छीन लिया।

पीड़िता की मां ने बताया कि 13 सितंबर को वह बैंक में पहुंचीं तो पता लगा कि बैंक अकाउंट से तीन लाख रुपये निकाले गए हैं। यह रुपये एटीएम कार्ड से निकाले गए हैं।

इसके बाद पीड़िता ने आरोपी कॉन्स्टेबल समीर से रुपये वापस मांगे। सिपाही ने रकम का एक भी पैसा देने से इनकार कर दिया।

न्याय की आस में पीड़िता करीब एक सप्ताह पहले एसएसपी हरि नारायण सिंह के पास पहुंची और पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी।

एसएसपी के आदेश पर कोतवाली पुलिस ने जांच कर 21 सितंबर को रिपोर्ट दर्ज कर ली, जिसमें महिला दरोगा प्रतिमा और सिपाही समीर को नामजद किया गया है। पुलिस ने सिपाही को गिरफ्तार कर लिया है।

Back to top button