अश्लील हरकत के बाद बोला टीचर, बच्चे पैदा करने की मशीन है लड़कियां

बुलंदशहरः उत्तर प्रदेश में आए दिन शिक्षकों के एक से बढ़ कर एक कारनामें उजागर हो रहे हैं। यूं कहे तो शिक्षकों ने बच्चों को कठपुतली समझ लिया है, जैसे नचाना चाहे वैसे नचाते हैं।

ऐसा ही एक शर्मनाक मामला बुंलदशहर में देखने को मिला है, जहां शिक्षक क्लास में बैठ कर बच्चों के साथ अश्लील हरकते करता हैं।

इतना ही नहीं बच्चों से अश्लील बातें करने में भी पीछे नहीं हटता। वहीं शिक्षक की ऐसी भद्दी हरकतों से परेशान होकर बच्चों ने उसके खिलाफ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है।

क्लास में अश्लील बातें करता है शिक्षक

मामला जहांगीराबाद इलाके के जनता पॉलिटेक्निक कॉलेज का हैं। यहां के छात्र-छात्राओं ने हेल्थ एजुकेशन पढाने वाले शिक्षक के ऊपर बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं।

वहीं छात्र-छात्राओं का कहना है कि शिक्षक उनसे गंदे मजाक करता है और परेशान करता है, इतना ही नहीं विरोध करने पर फेल करने की धमकी देता है, साथ ही कहा कि पढ़ाते-पढ़ाते ये खुद चरित्र में आ जाते है और छात्राओं से अश्लील बातें करने लगते हैं।

बच्चे पैदा करने की मशीन है लड़कियां-शिक्षक

वहीं छात्राओं की मानें तो किताब के टॉपिक में 1 या 2 लाईने पढानें के बाद छात्राओं से अलग बाते शुरू कर देते हैं। छात्राओं का आरोप है कि क्लास में लाईट नहीं थी और दरवाजे बंद थे।

छात्राओं ने बताया कि गर्मी लग रही थी तो मास्टरजी से गेट खोलने के लिए कहा था, तो मास्टरजी ने कहा कि अगर गर्मी लग रही है तो अपने कपड़े उतारकर क्लास में बैठो। साथ ही कहा कि लड़कियां पढ़ाई करने के लिए नहीं होती वो तो लड़किया तो बच्चे पैदा करने की मशीन होती हैं।

हेल्थ एजुकेशन का विषय पढ़ाता है शिक्षक

वहीं जब इस मामले में आरोपी शिक्षक से बात की गई तो अपनी सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि मेरा विषय हेल्थ एजुकेशन का हैं। जिसमें हमे आपके शरीर के बारे में जानकारी देनी होती हैं। जिसमें सेक्स के बारे मे भी बताना होता हैं।

हमारा मेडिकल विषय है आगर हम वो नही पढ़ाएंगे तो क्या पढ़ाएंगे। साथ ही कहा कि जिस छात्राओं ने मुझ पर आरोप लगाएं हैं वो सरासर गलत हैं।

क्या कहना है प्रिंसिपल का

इस शर्मनाक मामले में कॉलेज के प्रिंसिपल तरुण दत्त शर्मा का कहना है कि छात्र-छात्राओं द्वारा लगाए आरोपों की जांच के लिए कमेटी गठित कर दी गई है।

कहा कि छात्राओं द्वारा लगाए गए इतने गंभीर आरोप को देखते हुए शिक्षक को सारे शिक्षण कार्य से मुक्त कर दिया है। बताया कि जैसे ही जांच कमेटी रिपोर्ट देगी उसकी के तहत कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button