उत्तराखंडः देवप्रयाग में बादल फटा, ITI की तीन मंजिला बिल्डिंग ध्वस्त, कई दुकानें क्षतिग्रस्त

मलबे में किसी के दबने को लेकर अभी स्थिति साफ नहीं हो पाई है।

उत्तराखंड में एक बार फिर बादल फटने की घटना सामने आई है। देवप्रयाग में बादल फटने से शांता नदी मे आए उफान से नगर के शांति बाजार मे तबाही आ गई। यहां स्थित आईटीआई का तीन मंजिला भवन पूरी तरह ध्वस्त हो गया। जबकि शांता नदी से सटी दस से ज्यादा दुकानें भी बह गईं। बस अड्डे की ओर आने वाला रास्ता और पुलिया पूरी तरह से बह गया। मलबे में किसी के दबने को लेकर अभी स्थिति साफ नहीं हो पाई है।

मंगलवार शाम करीब 5 बजे दशरथ आंचल पर्वत पर बादल फटने की घटना हुई। इससे शांता गदेरा में उफान आ गया। बस अड्डे से शांति बाजार होकर शांता नदी भागीरथी में मिलती है। उफान के साथ आए भारी बोल्डरों ने यहां तबाही मचा दी। यहां मौजूद आईटीआई की तीन मंजिला बिल्डिंग इसकी जद में आ गयी। बाजार में कम्प्यूटर सेंटर, बैंक, बिजली, फोटो आदि की दुकानें भी ध्वस्त हो गईं। उधर शांता नदी पर बनी पुलिया, रास्ता सहित उससे सटी जूलर्स, कपड़े, मिठाई आदि की दुकाने भी उफान की भेट चढ़ गईं।

डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि मंगलवार को टिहरी स्थित देवप्रयाग थाना क्षेत्र में बादल फटने की घटना हुई है। इसमें 7-8 दुकानों और आईटीआई की बिल्डिंग को भारी नुकसान हुआ है। उन्होंने बताया कि हादसे में कोई जनहानि नहीं हुई है।

इससे पहले उत्तराखंड के चमोली में बिनसर इलाके में बादल फटने से भारी तबाही मची थी। कई लोगों के और दुकानें इस हादसे में तबाह हो गए थे। तीन मई को उत्तराखंड के टिहरी, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जिले में बादल फटने की खबर सामने आई थी। रुद्रप्रयाग व उत्तरकाशी जिलों में बादल फटने की खबर का तत्काल संज्ञान लेते हुए संबंधित डीएम ने फ़ोन पर जानकारी ली और प्रभावितों को तुरंत राहत और सहायता राशि देने के निर्देश दिया। बीआरओ को तत्काल बंद मार्गों को खुलवाने के लिए कहा गया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button