राहुल अपनी तीन पीढ़ियों का हिसाब दें: शाह

देहरादून: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने देहरादून दौरे के दूसरे दिन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार किया है। अमित शाह ने यहां बीजेपी के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया।

इस दौरान राहुल गांधी पर तल्ख टिप्पणी करते हुए अमित शाह ने कहा, ‘हम अपने 3 साल के कामकाज का जवाब देने को तैयार हैं, राहुल गांधी अपनी 3 पीढ़ियों के काम-काज का जवाब दें।’

 

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ‘नरेंद्र मोदी सरकार ने देश में पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस (राजनीति में काम करके दिखाने) का युग शुरू किया है।’

दो दिवसीय उत्त्तराखंड दौरे के अंतिम दिन शाह ने कहा, ‘वर्ष 2014 में हमारे सत्त्ता संभालते समय और वर्तमान में हो रही चीजों की अगर आप तुलना करें, तो आपको एक बड़ा परिवर्तन दिखाई देगा। हमने देश में पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस के नए युग की शुरुआत की है।’

‘मोदी सरकार में ऐतिहासिक फैसले’

पूर्ववर्ती यूपीए सरकार पर 12 लाख करोड़ रुपये के घोटालों में फंसे होने और नीतिगत मामलों में लकवा पीड़ित होने का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा, ‘पिछले 3 वर्षों में बीजेपी देश को एक पारदर्शी और कार्य करने वाली सरकार देने में सफल रही है, जो निर्णय लेने में सक्षम है।

देश में चारों तरफ एक बड़ा बदलाव दिखायी दे रहा है और इसका श्रेय नरेंद्र मोदी को जाता है, जिनके नेतृत्व में नोटबंदी, बेनामी संपत्त्ति पर प्रहार, जीएसटी और काले धन द्वारा संचालित समानान्तर अर्थव्यवस्था को खत्म करने के लिये वित्त्तीय लेनदेन का डिजिटलीकरण जैसे ऐतिहासिक निर्णय लिए गए।’

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि लगातार आर्थिक सुधार और सर्जिकल स्ट्राइक जैसे रणनीतिक फैसलों ने विदेशों में भारत की छवि एक मजबूत इच्छाशक्ति वाले राष्ट्र के रूप में बनाने में सहायता की।

उन्होंने कहा, ‘हम भारत को ब्रैंड बनाने में कामयाब हुए हैं और पूरी दुनिया के देश हमसे बेहतर रिश्ते चाहते हैं।’

इससे पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अमेरिका के प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स और फैकल्टी मेंबर्स को संबोधित करते हुए कहा, ‘यूपीए सरकार ने एक दिन में 30 हजार नौकरियां देने का जो वादा किया था, उसे पूरा करने में वह ‘असफल’ रही।

‘ हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि वर्तमान में बीजेपी की अगुआई वाली एनडीए सरकार भी वर्तमान दर से इस लक्ष्य को छूने में नाकाम रहेगी।

राहुल गांधी ने कहा, ‘लोग हमसे नाराज थे क्योंकि हम 30 हजार नौकरियां (प्रतिदिन) देने का वादा पूरा नहीं कर सके। वही लोग अब मिस्टर मोदी पर भी नाराज होने वाले हैं।’

राहुल ने कहा, ‘भारत में गुस्सा पैदा हो रहा है।’ राहुल इस दौरान यह मानने से भी नहीं हिचके कि कांग्रेस की अगुआई वाली यूपीए सरकार को नौकरी देने के मोर्चे पर मिली नाकामी ही पीएम मोदी के उदय की वजह है।

राहुल ने कहा कि 30000 युवा रोजाना नौकरियों के लिए जॉब मार्केट में पहुंच रहे हैं। इनमें से केवल 450 को नौकरी मिल पाती है।

 

देहरादून दौरे का दूसरा दिन

अमित शाह के बयान को राहुल के मोदी सरकार पर हमले के जवाब के रूप में देखा जा रहा है।

इससे पहले देहरादून दौरे के दूसरे दिन अमित शाह ने दलित कार्यकर्ता के घर पर खाना खाया। उन्होंने बीजेपी कार्यालय में ई लाइब्रेरी का उद्घाटन किया।

अमित शाह के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, ‘नई बस्ती, देहरादून में अपने कार्यकर्ता श्री मुन्ने सिंह जी के घर भोजन किया।

स्नेहपूर्ण आतिथ्य व स्वादिष्ट भोजन के लिए उनके परिजनों का धन्यवाद।’

 

शाह के दौरे के मद्देनजर बलवीर रोड स्थित बीजेपी कार्यालय की सजावट की गई थी। ई लाइब्रेरी के शुभारंभ की तस्वीर पोस्ट करते हुए करते शाह ने लिखा,

‘‪देहरादून के प्रदेश कार्यालय में नानाजी देशमुख पुस्तकालय व ई-पुस्तकालय’ का उद्घाटन किया गया। यह पुस्तकालय कार्यकर्ताओं के लिए अत्यंत लाभदायक होंगे।’

अमित शाह इसके अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दफ्तर भी गए। यहां पर बीजेपी अध्यक्ष ने संघ के प्रान्त और क्षेत्र प्रचारकों के साथ विचार-विमर्श किया।

Back to top button