राष्ट्रीय

सौरव गांगुली से मिलने पहुंची बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष की बेटी वैशाली डालमिया

गांगुली के इलाज के लिए तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड का गठन

नई दिल्ली: डॉ. आफताब खान की निगरानी में बेहला स्थित आवास से अपोलो अस्पताल में भर्ती बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली की तबीयत स्थिर बताई जा रही है. गांगुली के इलाज के लिए तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है जिसमें डॉ आफताब खान, डॉ सप्तर्षि बसु और डॉ सरोज मंडल शामिल हैं.

वहीं बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष दिवंगत जगमोहन डालमिया की बेटी और एमएलए वैशाली डालमिया गांगुली से मिलने अस्पताल पहुंची. वैशाली ने गांगुली से मुलाकात के बाद कहा कि वह रिलैक्स हैं और अच्छे हैं. वह हेल्थी दिख रहे हैं. सब ठीक होने की संभावना है. सौरव ने कहा कि सवेरे कुछ थका-थका लग रहा था. चूंकि कुछ दिन पहले उनकी एंजियोप्लास्टी हुई थी. इस कारण उन्हें अस्पताल लाया गया है.

डॉक्टरों ने शुरुआती जांच के बाद कहा कि 28 जनवरी को गांगुली का एंजियोग्राम यानी खून की धमनियों का एक्सरे किया जाएगा. उनके इको टेस्ट में कुछ समस्या सामने आई है. अस्पताल में सौरव गांगुली की पहले ईसीजी की गई. उनके खून के सैंपल भी लिए गए हैं. साथ ही यह भी देखा जा रहा है कि क्या एक आर्टरी में स्टेन लगाने के बाद उसमें कोई गड़बड़ी तो नहीं हुई है. गांगुली की फिर एंजियोप्लास्टी भी की जाएगी. इसके तहत दो स्टेन लगाए जाएंगे. हालांकि अभी यह तय नहीं हो पाया है कि एंजियोप्लास्टी आज होगी या कल.

सौरव गांगुली के परिवार के सूत्रों का कहना है कि सौरव मंगलवार रात से ही हल्के दर्द की शिकायत रहे थे. बुधवार सुबह उनके डॉक्टरों से संपर्क किया गया. डॉक्टरों ने उन्हें अस्पताल में भर्ती करने की सलाह दी थी.

अमित शाह करेंगे डॉक्टर्स से बात

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कैलाश विजयवर्गीय को फोन करके सौरव गांगुली के स्वास्थ्य की जानकारी ली है. कैलाश विजयवर्गीय ने बताया कि अमित शाह खुद सौरव गांगुली की चिकित्सा पर नजर रख रहे हैं.

अमित शाह ने कहा कि वह खुद डॉक्टरों से बात करेंगे. जरूरत पड़ी तो मुंबई ले जाने की व्यवस्था कर सकते हैं. अमित शाह का कार्यालय अस्पताल से संपर्क में है. अगर सौरव मुंबई जाना चाहे तो उनके लिए एयर एंबुलेंस की व्यवस्था कर दी जाएगी.

पहले ही हो चुकी है एक एंजियाप्लास्टी

BCCI अध्यक्ष गांगुली को शनिवार 2 जनवरी को अपने घर के जिम में हार्ट अटैक आया था, जिसके बाद उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसके बाद पता चला था कि गांगुली को ट्रिपल वेसल डिजीज है. अस्पताल के डॉक्टरों की टीम ने उनकी एंजियोप्लास्टी कर एक आर्टरी में हुए ब्लॉकेज को हटाकर स्टेन्ट लगाया था. इसके बाद से ही डॉक्टरों ने पांच दिनों तक उन्हें अस्पताल में ही रखने का फैसला किया था.

गांगुली का हाल चाल लेने अब तक कई दिग्गज नेता अस्पताल पहुंचे थे. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममत बनर्जी से लेकर बीसीसीआई सचिव जय शाह ने गांगुली से मुलाकात की थी. गांगुली ने अस्पताल में रहते हुए ही कुछ अहम मीटिंग्स में हिस्सा भी लिया था. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी फोन पर भारत के पूर्व कप्तान का का हाल-चाल लिया था. इस बीच फैंस लगातार दादा की बेहतर सेहत की कामना कर रहे थे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button