छत्तीसगढ़

वर्षा डोंगरे ने CM को पत्र लिखकर कहा-2003 बैच के अफसरों को ना दिया जाए IAS-IPS अवार्ड

वर्षा डोंगरे ने पत्र में लिखा-2016 से मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित, बिना फैसला अवार्ड दिया जाना पद की छवि धूमिल करेगा

रायपुर : वर्षा डोंगरे ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर 2003 बैच के अफसरों को दिया जाने वाले IAS-IPS अवार्ड पर रोक लगाने को कहा है

हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चैलेंज कर भले ही 2003 PSC से चयनित अफसरों ने राहत पा ली हो, लेकिन आने वाले दिनों उनकी मुश्किलें बढ़ सकती है। 2003 PSC परीक्षा परिणाम को कोर्ट तक ले जाने वाली याचिकाकर्ता वर्षा डोंगरे और संतोष कुंजाम ने मुख्यमंत्री को इस मामले में पत्र लिखकर 2003 बैच के राज्य प्रशासनिक व पुलिस सेवा के अफसरों को IAS व IPS अवार्ड नहीं देने की मांग की है। वर्षा डोंगरे ने इस संदर्भ में छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के फैसले के उस संदर्भ को भी जोड़ा है, जिसमें कोर्ट ने परीक्षा परिणाम को पुनर्निधारित करने का निर्देश दिया था।

पत्र में हाईकोर्ट में याचिकाकर्ता रही वर्षा डोंगरे ने लिखा है कि भ्रष्टाचार से चयनित अधिकारियों को लंबे समय से सेवा में रखने से छत्तीसगढ़ प्रशासन की छवि धूमिल हुई है, ऐसे में अगर उन अफसरों को IAS-IPS अवार्ड हुआ तो पूरे भारतीय प्रशासनिक व पुलिस सेवा की छवि धूमिल हो जायेगी। अपने तीन पेज के पत्र में वर्षा डोंगरे ने बिंदुवार पूरे चयन प्रक्रिया और मामले में कूट रचना का जिक्र किया है।

वर्षा डोंगरे और संतोष कुंजाम ने पत्र में लिखा है कि 2003 में फर्जीवाड़ा कर चयन होने वाले अभ्यर्थियों का पूरा प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट में साल 2016 से ही विचाराधीन हैं, लिहाजा मामले में फैसला नहीं आने तक 2003 बैच के अफसरों को भारतीय पुलिस और प्रशासनिक सेवा के लिए अनुशंसित करना करना सही नहीं होगा।

वर्षा डोंगरे का CM को लिखा पत्र,2003 बैच के अफसरों को ना दिया जाए IAS-IPS अवार्ड वर्षा डोंगरे का CM को लिखा पत्र,2003 बैच के अफसरों को ना दिया जाए IAS-IPS अवार्ड वर्षा डोंगरे का CM को लिखा पत्र,2003 बैच के अफसरों को ना दिया जाए IAS-IPS अवार्ड

 

Tags
Back to top button