छत्तीसगढ़

डीआरएम के स्टेशन नहीं पहुंचने से वेंडर आक्रोशित, सोमवार को जाएंगे कार्यालय

रायपुर : रेलवे स्टेशन रायपुर में अधिकारियों की ओर से खान-पान के स्टालों में की गईअ कार्रवाई से वेंडर खासे आक्रोशित है। वेंडरों ने अधिकारियों पर गुंडागर्दी और दुव्र्यवहार करने का आरोप लगाया है। वेंडरों का कहना है कि रेलवे नियम के तहत कार्रवाई करे उन्हें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन नियम विरूद्ध हुई कार्रवाई से वेंडरों का आक्रोश बढ़ गया है। इस संबंध में सीनियर डीसीएम ने वीएनएस से चर्चा में कहा है कि जांच की जाएगी, आखिर गलती किसकी है। जांच के बाद ही उचित निर्णय लिया जायेगा। वहीं शनिवार को डीआरएम राहुल गौतम का निरीक्षण दौरा स्टेशन में था, एकाएक स्थगित होने से अब वेंडर डीआरएम कार्यालय सोमवार को जाने की बात कह रहे हैं।
छत्तीसगढ़ रेलवे कमीशन वेंडर एसोसिएशन के अध्यक्ष ऋषि उइके ने आरोप लगाते हुए कहा कि, शुक्रवार रात डीसीएम मसुद अहमद अंसारी और उनकी टीम ने प्लेटफार्म क्रमांक 2 के स्टॉल नंबर बी-1 में जांच के दौरान कॉफी मशीन में लगे पानी के जार को तोड़ दिया। रेलवे अधिकारियों के इस व्यवहार से वेंडरों में आक्रोश है। उइके का कहना है कि, रेलवे नियमानुसार कार्रवाई करे ये हम भी चाहते है और उसका समर्थन व सहयोग करते हैं, लेकिन जो व्यवहार रेलवे अधिकारियों ने किया है वह गलत है। हम चाहते हैं कि रेलवे यात्रियों को गुणवत्तायुक्त और साफ-सुथरा खान-पान मिले।
उइके ने कहा कि हमें पता चला था कि रायपुर रेल मंडल प्रबंधक राहुल गौतम शनिवार को निरीक्षण करने रेलवे स्टेशन आने वाले हैं। हम दिनभर इंतजार करते रहे परंतु वे नहीं आए। यदि वे आते तो वेंडर उनसे मिलकर उचित निर्णय लेने का आग्रह करते और अपनी मांग उनके समक्ष रखते ताकि भविष्य में रेलवे के वेंडरों के साथ ऐसा दुव्र्यवहार ना किया जाए। डीआरएम के नहीं आने से अब सोमवार को वेंडर डीआरएम कार्यालय जाकर उनसे मिलेंगे और अपनी बातें रखेंगे। उइके ने कहा कि इस सब के बीच हमने काम को प्रभावित नहीं होने दिया ताकि यात्रियों को किसी तरह की असुविधा का सामना करना पडऩे।

एफआईआर कराने गए थे वेंडर
जीआरपी थाना प्रभारी आर.बोर्झा ने बताया कि उक्त घटना के संबंध में वेंडर एफआईआर दर्ज कराने पहुंचे थे। उन्हें लिखित में देने की बात कही गई थीस लेकिन वे वापस नहीं आए। इस संबंध में ऋषि उइके का कहना है कि हां शिकायत दर्ज कराने गए थे, अभी लिखित रूप में पुलिस को नहीं बताया गया है।

जांच के बाद लेंगे उचित निर्णय : सुदर्शन
रायपुर रेल मंडल के सीनियर डीसीएम आर.सुदर्शन ने वेंडरों के उक्त आरोपों के संबंध में कहा है कि, पहले पूरे मामले की जांच की जाएगी, आखिर गलती किसकी है। फिर ही उचित निर्णय लिया जाएगा। रेलवे की ओर से समय-समय पर जांच की जाती है। अनियमितता पाये जाने पर कार्रवाई की जाती है। इसी के तहत् वर्तमान में केटरिंग सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए स्टेशन और ट्रेन में जांच चल रही है। प्लेटफार्म 2-3 पर जांच के दौरान एक स्टॉल में अनियमितता मिली थी। जार में पानी की काई परत,जमी हुई थी,जिसे यात्रियों के लिये ठीक नहीं पाया गया और उस जार को वहीं तोड़ा गया था। उक्त कार्रवार्ई डीसीएम व उनकी टीम ने की थी, जिसे तोड़-फोड़ का नाम दिया जा रहा है जो अनुचित है।

Back to top button