वीएचपी नेता का कांग्रेस को समर्थन का ऐलान, लेकिन लगाई ये शर्त, क्या जानें?

नए साल के पहले सप्ताह में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राम मंदिर के निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया था

नई दिल्ली।

वीएचपी के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि कांग्रेस अगर लोकसभा चुनाव के अपने घोषणापत्र में राम मंदिर का मुद्दा शामिल करेगी तो समर्थन पर विचार करेंगे। आलोक कुमार ने कहा, ‘राम मंदिर के लिए जिन्होंने खुले तौर पर वादा किया है,

अगर कांग्रेस घोषणा पत्र में शामिल करे कि मंदिर बनाएंगे तो उसके (कांग्रेस) के बारे में भी विचार करेंगे. उसने जो प्रतिबंध लगाया है कि संघ के स्वयंसेवक कांग्रेस में नहीं जा सकते उसको वापस ले.

केवल जनेऊ पहनने से नहीं होगा.’ नए साल के पहले सप्ताह में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राम मंदिर के निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि अयोध्या राम मंदिर का मसला अभी कोर्ट में है.

साथ ही उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में नौकरी और किसानों से जुड़े मुद्दे पर अहम होंगे. ये बयान तब आया जब राम मंदिर का मसला सड़क से कोर्ट तक गर्मया है।

राम मंदिर का ताला खुलने पर कांग्रेस जमीन से लेकर संसद तक हुई थी मजबूत


बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे राजीव गांधी द्वारा मंदिर के ताले खुलवाने के बाद बड़ी संख्या में हिन्दू लोग और संगठन उनके साथ आ गए थे. जिसके बाद कांग्रेस जमीन से लेकर संसद तक मजबूत हुई थी.

ऐसे में अगर कांग्रेस राम मंदिर के लिए अपने दरवाजे खोलती है और अपने घोषणापत्र में वीएचपी की बात को ध्यान में रखते हुए मंदिर मसले को शामिल कर लेती है तो बीजेपी को आगामी लोकसभा चुनाव में बड़ा नुकसान झेलना पड़ सकता है.

1
Back to top button