बड़ी खबरराष्ट्रीय

राज्यसभा के मानसून सत्र की तैयारी में लगे उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू

वेंकैया नायडू ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विभिन्न पार्टियों के बैठने की व्यवस्था

नई दिल्ली. राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू (M. Venkaiah Naidu) ने राज्यसभा के मानसून सत्र (Rajya Sabha Monsoon session) में सांसदों के बैठने की वयवस्था के विभिन्न उपायों पर चर्चा की.

इस बैठक में राज्यसभा के सेक्रेट्री जनरल ( Secretary general ) समेत राज्यसभा सचिवालय के तमाम वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया. घंटे भर की बैठक के बाद एक सहमति बनी कि राज्यसभा के भीतर और उसकी गैलरी में फिजिकल डिस्टेंसिंग (Physical Distancing) का पालन करते हुए बैठने की व्यवस्था हो और इसके साथ ही सेन्ट्रल हॉल और बालयोगी सभागार में बैठकर कारवाई में वर्चुअल हिस्सेदारी की जा सकती है.

अनुमान ये लगाया गया कि राज्यसभा का सभागार और उसकी गैलरी में 127 सांसद निर्देशों के अनुसार दूरी बनाकर बैठ सकते हैं. मीडिया गैलरी को छोड कर सभी गैलरियों में सांसदों के बैठने की सुविधा दी जा सकती है.

साथ ही सांसदों की वर्चुअल हिस्सेदारी के लिए हाउस के अंदर और बाहर बड़ी स्क्रीन लगाने के विकल्पों पर भी विचार हुआ. वेंकैया नायडू ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विभिन्न पार्टियों के बैठने की व्यवस्था, पूरे दिन बहस और कारवाई में शामिल होने वाले सांसदों की लिस्ट बनाने जैसी योजनाओं पर विचार करना शुरु कर दें.

कई पहलूओं पर हुई चर्चा

प्रश्न काल, सदन में वोटिंग, नए सांसदों की शपथ, सांसदों के आने जाने की ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था, दूरी रखने के दिशा-निर्देश और सैनिटाइजेशन जैसे कदमों पर भी चर्चा हुई.

मीडिया गैलरी में भी मीडिया कर्मियों के बैठने के लिए दिशा निर्देश बनेंगे. वेंकैया नायडू ने अधिकारियों को ये निर्देश दिए कि एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट दें. वेंकैया नायडू चाहते हैं कि अगर सरकार मानसून सत्र बुलाने का फैसला भी लेती है वो कोरोना संकट के बीच इतने बड़े स्तर पर बैठक के लिए संसद तैयार रहे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button