PM मोदी की VC : कोरोना से बचाव,रोकथाम और लॉकडाउन के संबंध मेंं चर्चा

लॉकडाउन का दूसरा चरण 19 दिनों के बाद 3 मई को खत्म हो रहा है

रायपुर : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस कर कोरोना से बचाव और रोकथाम, लॉक डाउन के संबंध में आगे की रणनीति पर विचार-विमर्श किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी कान्फ्रेंस में शामिल हुए।

स्वास्थ्य मंत्री टी. एस. सिंहदेव, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल, पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, स्वास्थ्य विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह, मुख्यमंत्री की उप सचिव सौम्या चौरसिया इस अवसर पर उपस्थित थीं।

कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पूरे देश में लगाए गए हैं लाकडाउन अवधि 3 मई को समाप्त हो रही है.. इस अवधि को आगे और बढ़ाया जाए या इसमें कितनी छूट दी जाए, ऐसे ही तमाम विषयों पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस कर कोरोना से बचाव और रोकथाम, लॉकडाउन के संबंध मेंं आगे की रणनीति पर विचार-विमर्श किया गया

लॉकडाउन का दूसरा चरण 3 मई को खत्म हो रहा

लॉकडाउन का दूसरा चरण 19 दिनों के बाद 3 मई को खत्म हो रहा है. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ देश के मौजूदा हालात की समीक्षा कर रहे हैं। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद हैं।

प्रधानमंत्री मोदी की यह चौथी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग

पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी, आंध्रप्रदेश के जगनमोहन रेड्डी और तेलंगाना के चंद्रशेखर राव समेत कई राज्यों के सीएम मोदी से जुड़े। केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल नहीं हुए। उनकी तरफ से राज्य के मुख्य सचिव शामिल हुए। केरल ने लिखित में अपने सुझाव केंद्र को दे दिए थे। कोरोना महामारी पर मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की यह चौथी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग है।

देश में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद 20 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्रियों से संक्रमण रोकने के उपायों पर चर्चा की थी। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों को संक्रमण को काबू करने में लोगों और स्थानीय प्रशासन के बीच तालमेल बढ़ाने पर बल देने के लिए कहा था। इस बीच, राज्यों में ट्रेंड स्टाफ बढ़ाने और स्थानीय स्वास्थ्यकर्मियों को ट्रेनिंग देने के मुद्दे पर विचार किया गया था। इसके अलावा बैठक में बीमारी के इलाज के लिए राज्यों में उपलब्ध सुविधाओं की समीक्षा की गई थी।

मोदी ने मुख्यमंत्रियों से 2 अप्रैल को भी चर्चा की थी। लॉकडाउन का पहला चरण 14 अप्रैल को खत्म हुआ था। इससे पहले 11 अप्रैल को मोदी ने सीएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर लॉकडाउन बढ़ाने के पर सुझाव मांगे थे। इस दौरान मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा था, ‘‘जान है तो जहान है।

जब मैंने राष्ट्र के नाम संदेश दिया था, तो शुरुआत में इस पर जोर दिया था कि हर नागरिक की जान बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत जरूरी है। जब देश का प्रत्येक व्यक्ति जान भी और जहान भी, दोनों की चिंता करते हुए अपने दायित्व निभाएगा, सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन करेगा, तो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई और मजबूत होगी।

Tags
Back to top button