एसईसीएल में सतर्कता जागरूकता सप्ताह आरंभ, कर्मियों ने ली सतर्कता जागरूकता की शपथ

भ्रष्टाचार उन्मूलन करने के लिए निर्बाध रूप से काम करने की शपथ

बिलासपुर: एसईसीएल में 28 अक्टूबर से 02 नवंबर तक सतर्कता जागरूकता सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। इसी तारतम्य में 28 अक्टूबर को एसईसीएल मुख्यालय प्रशासनिक भवन प्रांगण में एसईसीएल कर्मियों द्वारा भ्रष्टाचार उन्मूलन करने के लिए निर्बाध रूप से काम करने की शपथ ली गयी।

इस अवसर पर आरंभ में अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा, मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी.शर्मा, निदेशक तकनीकी (संचालन) आर.के. निगम, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एम.के. प्रसाद द्वारा लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की चित्र के समीप दीप प्रज्जवलन कर, माल्यार्पण कर सतर्कता जागरूकता सप्ताह का उद्घाटन किया।

महामहिम उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू के संदेश का पठन

कार्यक्रम में महामहिम उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू के संदेश का पठन महाप्रबंधक (सामग्री प्रबंधन) वी.पी.सिंह ने किया, केन्द्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. जितेन्द्र सिंह के संदेश का पठन महाप्रबंधक (मासंवि) राजीवरंजन ने किया एवं सेन्ट्रल विजिलेंस कमीश्नर सनत कुमार के संदेश का पठन महाप्रबंधक (सतर्कता) के.आर. राजीव ने किया। अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने सतर्कता जागरूकता शपथ का वाचन किया जिसे समस्त उपस्थितों ने दोहराया।

इस अवसर पर अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने कहा कि हमें अपने दैनंदीन कार्यों में पूरी पारदर्शिता बरतनी चाहिए इससे निश्चय ही हमारे प्रति हमारे साथ कार्य कर रहे लोगों का विश्वास बढ़ेगा।

उन्होंने आगे कहा कि पारदर्शिता के साथ ही कार्य के प्रति प्रतिबद्धता और उसके प्रति जवाबदेही भी उतना ही आवश्यक है। जब कार्य में पारदर्शिता, प्रतिबद्धता एवं जवाबदेही का समावेश होता है तभी एक ईमानदार कार्यशैली का विकास किया जा सकता है। उन्होंने अंत में सभी को दिपावली पर्व की शुभकामनाएॅं दी।

’ईमानदारी एक जीवनशैली

मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा ने कार्यक्रम के उद्धेश्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इस वर्ष का थीम-’’ईमानदारी एक जीवनशैली’’ है। विभिन्न स्कूल-काॅलेजों, वशवर्ती ग्रामों में जनजागृति, स्टेक होल्डर मीट के माध्यम से लोगांे को ’’ईमानदारी एक जीवनशैली’’ की ओर प्रेरित किया जा रहा है। अपने स्वयं के व्यवहार व कार्यों में ईमानदारी अपनाने से निश्चय ही लक्ष्यों को आसानी से हासिल किया जा सकता है।

साथ ही उन्होंने यह भी आव्हान किया कि सभी स्तर के अधिकारी प्रबंधन तथा सी.वी.सी. के गाइड लाईन्स एवं मैनुअल्स का गंभीरतापूर्वक अध्ययन करें, इससे अपने कार्य-निष्पादन के दौरान निर्णय लेने में उन्हें सुविधा होगी। सभी अधिकारी-कर्मचारी ईमानदारी एवं पारदर्शिता से निडर होकर कार्य करें।

निदेशक तकनीकी (संचालन) आर.के. निगम ने कहा कि निर्धारित नियमों का पालन कर ईमानदारी से कार्य सम्पादित करना चाहिए। उन्होंने सम्पूर्ण कार्यक्रम के सफलतापूर्वक आयोजन की कामना की।

निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एम.के. प्रसाद ने कहा कि समाज, उद्योग या परिवार में निवासरत रहते हुए हमें ईमानदार व्यक्तित्व के प्रति प्रेरित होते हुए हमें इस दिशा में आगे बढ़ने का प्रयास करना चाहिए जिससे उस महान व्यक्तित्व के समान ही हमपर भी अन्य सभी गर्व कर सकें।

इस अवसर पर विभिन्न विभागाध्यक्षों, अधिकारियों-कर्मचारियों, महिलाकर्मियों, विभिन्न श्रमसंघ प्रतिनिधियों की उल्लेखनीय उपस्थिति रही। कार्यक्रम में उद्घोषणा का दायित्व मुख्य प्रबंधक (सतर्कता) जे.पी. सिंह ने निभाया जबकि अंत में उपस्थितों को धन्यवाद ज्ञापित अरूण कुमार श्रीवास्तव उप प्रबंधक (सचिवीय) सतर्कता विभाग ने दिया।

Back to top button