छत्तीसगढ़

ग्राम स्वराज अभियान : सामाजिक न्याय दिवस के रूप में मनाया गया अंबेडकर जयंती

बाबा साहब ने एक ऐसे आदर्श समाज का सपना देखा

जांजगीर-चांपा : ग्राम स्वराज अभियान के प्रथम दिन आज भारत रत्न डॉ. भीम राव अंबेडकर की जयंती को आज सामाजिक न्याय दिवस के रूप में मनाया गया। लोकसभा सांसद कमलादेवी पाटले, संसदीय सचिव अंबेश जांगडे़, सक्ती विधायक डॉ. खिलावन साहू, जिला पंचायत सदस्य नरेन्द्र कौशिक, कलेक्टर नीरज कुमार बनसोड़ एवं जिला पंचातय सीईओ अजीत वसंत ने डॉ भीमराव अंबेडकर की छायाचित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर पुष्पांजली अर्पित की।

सांसद पाटले सहित उपस्थित अतिथियो द्वारा अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के 25 विद्यार्थियों को जाति प्रमाण पत्र और छात्रवृत्ति प्रदान की गई। सांसद पाटले ने उपस्थित नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा कि बाबा साहब ने एक ऐसे आदर्श समाज का सपना देखा, जहां जाति और ऊंच-नीच का भेदभाव ना हो, सभी को समान अवसर मिले। उन्होंने बताया कि विपरित परिस्थितियों में संघर्ष करते हुए बाबा साहब ने शिक्षा प्राप्त की। शिक्षा प्राप्त करने के बाद वे समाज के पिछड़े वर्ग के उत्थान एवं समाज में भेद-भाव व अंधविश्वास को समाप्त करने के लिए संघर्ष किया। संसदीय सचिव अंबेश जांगड़े व विधायक डॉ. साहू ने कहा कि बाबा साहब ने संविधान के माध्यम से समाज के कमजोर तबके को अधिकार संपन्न बना कर उनमें स्वाभिमान जगाया और आगे बढ़ने का रास्ता दिखाया है।

कलेक्टर बनसोड़ ने कहा कि बाबा साहब ने संविधान के प्रावधानों के जरिए सामाजिक विषमता को दूर करने और समाज के अंतिम व्यक्ति तक विकास की रोशनी पहुंचाने का कार्य किया। जिला पंचायत सदस्य नरेन्द्र कौशिक ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ राज्य युवा आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष कार्तिकेश्वर स्वर्णकार सहित त्रि-स्तरीय पंचायत व नगरीय निकाय के जनप्रतिनिधि एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *