छत्तीसगढ़

एनटीपीसी द्वारा पूल तोड़े जाने को लेकर ग्रामीणों में गुस्सा, बड़े आंदोलन की भी कही बात

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़। रायगढ़ जिले के घरघोड़ा क्षेत्र से एक बड़ी खबर निकल कर आ रही है। यहां एनटीपीसी प्रभावित गांव वालों ने एनटीपीसी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पुराने पुल को तोड़े जाने को लेकर ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। बताया जा रहा है पुल के तोड़े जाने के कारण तेज बारिश में करीब आधा दर्जन गांवों का संपर्क टूट गया है। ग्रामीणों ने इसे लेकर एनटीपीसी के अधिकारियों पर एफ आई आर दर्ज करने की मांग भी की है। इसके लिए उन्होंने घरघोड़ा एसडीएम को आज ज्ञापन सौंपा।

जिला पंचायत सदस्य क्षेत्र क्रमांक 17 घरघोड़ा के संतोष राठिया के अगुवाई में ग्रामीणों ने घरघोड़ा एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है और अपनी इस ज्ञापन में उन्होंने अपनी मांगों को प्रशासन के समक्ष रखा है।अपने ज्ञापन में मुख्य रूप से उन्होंने 4 मांगे रखी हैं। जो इस प्रकार है

1. एनटीपीसी के द्वारा कोयले की ट्रांसपोर्टिंग से पूर्व, घरघोड़ा के लिए बाईपास की कोई व्यवस्था नहीं की गई है एवं प्रभावित ग्रामों के सड़कों का कार्य पूर्ण नहीं किया गया है सर्वप्रथम यह पूर्ण हो उसके बाद ट्रांसपोर्टिंग कार्य प्रारंभ किया जाए। जिससे बरसात के समय क्षेत्रवासियों को कोई समस्या ना हो।

2. एनटीपीसी द्वारा वायदे के अनुसार स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार नहीं दिया गया है अति शीघ्र उनके भी रोजगार की व्यवस्था की जाए।

3. एनटीपीसी द्वारा कुछ मकानों का सर्वे नहीं किया गया है एवं बोनस की राशि को अतिशीघ्र दिया जाए।

4. कोटरी माल और रायकेरा के बीच पंचायत एवं ग्रामीण यांत्रिकी विभाग द्वारा बनाए गए पुलिया आमजन का आवागमन होता था जिसे एनटीपीसी प्रबंधन द्वारा बिना किसी आदेश या अनुमति के डिस्मेंटल कर दिया गया है। जिसके कारण आज रायकेरा एवं कोटरी माल के बीच आवागमन 24 घंटे से पूर्ण रूप से बाध्य है एवं समस्त क्षेत्रवासी पूरी तरह से परेशान है। उपरोक्त हेतु जिम्मेदार व्यक्ति के लिए एफ आई आर दर्ज कराने का अनुरोध है।

ऊपर लिखे चार मांगों के साथ ग्रामीणों ने अपनी मांगे अतिशीघ्र पूर्ण ना होने पर एनटीपीसी के खिलाफ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए धरना प्रदर्शन की भी बात कही है। clipper 28को जिला पंचायत सदस्य संतोष कुमार राठिया ने बताया कि एनटीपीसी द्वारा पुराने पुल को बिना किसी आदेश के या अनुमति के तोड़ दिया गया है।

उसकी जगह मिट्टी से भरा गया है। जो तेज बारिश के दौरान बह गया जिसमें आधा दर्जन से अधिक गांवों का संपर्क टूट गया है। जिसमें ग्राम पंचायात रायकेरा, ग्राम पंचायत बिच्छी नारा, ग्राम पंचायत चोटीगुढ़ा, ग्राम पंचायत कोटरीमाल और गाव रामपुर, कुधुरमौहा, तिलाईपाली, नया रामपुर, बैगाडेरा, आजितगढ़, साल्हेपाली शामिल है।

इस बात को लेकर हमने आज घरघोड़ा एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है और इसके लिए जिम्मेदार एनटीपीसी के अधिकारियों पर एफ आई आर की मांग रखी है। इसके साथ ही सड़क और रोजगार और बोनस की समस्या को भी प्रशासन के समक्ष रखा गया है अगर हमारी मांगे अतिशीघ्र पूर्ण नहीं होती है तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए हमारे द्वारा एनटीपीसी के खिलाफ एक बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

Tags
Back to top button