छत्तीसगढ़ी फिल्म ‘सुपर हीरो भैइसा’ में अलग किरदार में नज़र आएंगे विनोद नेताम जानी

सामाजिक परिवर्तन के लिए सशसक्त संदेश लिए होगा यह फिल्म

रायपुर : नाम तो मिला पर काम नही मिला, लेकिन कहते है ना क़ि कला कोहिनूर की तरह होती है जिसकी पहचान कोई पारखी ही कर सकता है, कुछ ऐसे ही छत्तीसगढ़ के स्थापित कलाकार विनोद नेताम जानी के साथ भी हुआ।

विनोद बताते है कि 2002 में किसान-मितान करने के बाद छत्तीसगढ़ी फिल्म से जैसे में कट सा गया था, परन्तु कैलाश जानवावाला ने मेरी कला को पहचाना और फिल्म ‘सुपर हीरो भैइसा’ में काम करने के लिए प्रोत्साहित किया। कैलाश इस फिल्म के डायरेक्टर और राईटर है।

मिमिक्री से स्टेज शो कर फिल्म मुकाम हासिल कर चुके विनोद फिल्म के बारे में बताते है कि- ‘सुपर हीरो भेइसा’ नाम कुछ अजीब तो लगता है, परंतु इसके संदेश बड़े गहरे है, जो समाज में व्याप्त बाल विवाह, विधवा विवाह, बंधुवा मजदूर परम्परा जैसे अनेक कुरीतियो पर तीखा प्रहार करती है। फिल्म को शहरी चकाचौन्ध से दूर सुदूर गॉंव की श्रेणी में रखकर बनाया गया है, फिल्म के नाम अनुरूप फिल्म में आखिर सुपर हीरो भेइसा क्या है? यह संस्पेंस है।

फिल्म में लगभग सभी नये कलाकार अपने कला का जौहर दिखाएंगे। विनोद कहते है कि कला मन हमेशा नये की तलाश में रहता है, मुझे भी सारगर्भित फिल्म की चाह थी और यह मौका मुझे इस फिल्म के रूप में मिला इसके लिए मैं फिल्म के डायरेक्टर, राईटर कैलाश व प्रोड्यूसर पवन गांधी का शुक्रगुजार हूँ।

इस फिल्म में मैं एक अत्याचारी सेठ के मुंशी की भूमिका में हूँ। मेरे लिए यह चुनोति भरा रोल था, जिसे मैंने स्वीकार कर बखूबी निभाया भी, दरअसल मुझे ऐसे ही किरदार की तलाश थी, जो मेरे कलामन को अंदर तक संतुष्ट कर दे ।

आशा करता हूँ दर्शको की उम्मीदों पर भी खरा साबित होऊंगा। सेठ की भूमिका चोवा राम साहू ने शानदार निभाया है। जिला बालोद व ग्रामीण में फिल्माए इस फिल्म के लोकेशन मनमोहक बन पड़े है। फिल्म में अनेक नई पहल हुई है, जो दर्शकों को अपनी ओर निश्चित ही खींचेंगी फिल्म की शूटिंग पूर्ण ही चुकी है,जिसके आगामी मार्च महीना तक रिलीज होने की सम्भावना है।

ताज़ा हिंदी खबरों के साथ अपने आप को अपडेट रखिये, और हमसे जुड़िये फेसबुक और ट्विटर के ज़रिये

Back to top button