विनोद वर्मा को मिली जमानत, बोले-सरकार के खिलाफ करूंगा मानहानि का मुकदमा

रायपुर।

अश्लील सीडी लीक कांड में प्रमुख आरोपी बनाए गए पत्रकार विनोद वर्मा को आज सीबीआई की अदालत ने जमानत दे दी। उन्हें एक लाख स्र्पये के मुचलके पर जमानत दी गई।

अदालत से बाहर निकलने के दौरान विनोद वर्मा ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार और प्रकाश बजाज ने मेरी 30 साल की प्रतिष्ठा को इस मामले में मुझे झूठा फंसाते हुए धूमिल किया है।

पहले मुझपर ब्लैकमेलिंग के चार्ज लगाए गए और फिर आज उसे हटा लिया गया। मैंने तब भी कहा था कि यह मुकदमा झूठा है और आज भी अपनी इस बात पर कायम हूं। यह पूरा प्रकरण झूठा है। सरकार ने मुझे गलत तरीके से फंसाया है। इस तरह एक पत्रकार के रूप में मैंने 30 वर्षों में जो प्रतिष्ठा हासिल की थी, उसे सरकार और प्रकाश बजाज ने एक झटके में धूमिल कर दिया।

गौरतलब है कि पिछले दिनों एक अश्लील सीडी जारी की गई थी। इस सीडी को लेकर दावा किया गया था कि यह प्रदेश सरकार के मंत्री राजेश मूणत से जुड़ी है। मामले में छवि धूमिल करने का आरोप लगाते हुए राजेश मूणत और प्रकाश बजाज ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बाद में निष्पक्ष जांच के लिए मामला सीबीआई को सौंपा गया। पहले विनोद पर ब्लैकमेलिंग का आरोप था, लेकिन अदालत ने आज उन्हें इस आरोप से मुक्त कर दिया।

Back to top button