मतगणना के दौरान हिंसा की आशंका, गृह मंत्रालय सतर्क

राज्यों को जारी किया अलर्ट

नई दिल्ली : मतगणना के दौरान हिंसा की संभावना को देखते हुए गृहमंत्रालय सतर्क हो गया है। गृहमंत्रालय ने इसी के मद्देनजर सभी राज्यों के मुख्य सचिवों और डीएसजीपी को अलर्ट रहने के लिए कहा है। गृहमंत्रालय ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में कानून और शांति व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहा है।

बता दें कि सात चरणों में चले लोकसभा चुनाव के नतीजे कल यानी गुरुवार को आएंगे। मतों की गिनती 23 मई को है, इसलिए गृहमंत्रालय को ऐसा अंदेशा है कि इस दौरान हिंसा भड़क सकती है। इस बार लोकसभा चुनाव में इवीएम पर रार मची हुई है। कई विपक्षी दल अनेकों बार चुनाव आयोग से लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा चुके हैं।

गृहमंत्रालय को क्यों देना पड़ा बयान
मतगणना से पहले कई पार्टियों ने इवीएम और वीवीपैट में गड़बड़ी की आशंका लेकर और साथ ही हर विधानसभा में कम से कम 50 फीसद से ज्यादा पर्चियों को मिलान करनेे की मांग की। इस मांग के ठुकराए जाने के बाद से ही कई नेता तीखे बयान दे रहे हैं। इसी के मद्देनजर गृहमंत्रालय को स्ट्रॉग रूम की सुरक्षा और अन्य किसी प्रकार की हिंसा से निपटने के लिए सतर्कता अलर्ट जारी करना पड़ा। गृहमंत्रालय ने साफ किया है कि मतगणना वाले स्थल पर सुरक्षा को लेकर किसी प्रकार का समझौता नहीं करना पड़े।

रालोसपा के सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा के तीखे बोल
पूर्व केंद्रीय मंत्री और महागठबंधन के घटक रालोसपा के सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा ने मंगलवार को एक्जिट पोल के नतीजे से नाराजगी जताते हुए कहा कि भाजपा रिजल्ट लूटने की कोशिश कर रही। उसके इस रवैये से सड़कों पर खून बहेगा। कुशवाहा ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि रिजल्ट लूट की कोई कोशिश हुई तो हथियार भी उठाने से परहेज नहीं करेंगे। जनता का आक्रोश संभल नहीं पाएगा।

निर्दलीय प्रत्याशी ने लहराया हथियार
भभुआ के पूर्व विधायक और लोकसभा चुनाव में बक्सर लोकसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार रामचंद्र यादव ने कैमूर ईवीएम मामले में हथियार लहराते हुए प्रेस कान्फ्रेंस किया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के लिए हथियार उठाना पड़े तो उठाऊंगा। रिजल्ट फेवर में नहीं आने पर अब लड़ना पड़ेगा, अब चुप बैठने से काम नहीं चलेगा। उनके इस बयान का वीडियो वायरल हो रहा है।

रामविलास पासवान ने कहा- ‘जैसे को तैसा’
राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ईवीएम को बचाने के लिए हथियार उठाने वाले बयान पर लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘जैसे को तैसा’ जवाब मिलेगा। पासवान ने यह बयान मंगलवार को दिल्ली में एनडीए के सहयोगियों दलों के डिनर कार्यक्रम में दिया है।

जदयू का पलटवार, कहा- ‘फरिया लीजिए, हमने भी चूड़ियां नहीं पहनी’
जदयू नेता संजय सिंह ने उपेंद्र कुशवाहा के हथियार वाले बयान पर कहा कि आपका खून लाल है तो हमारा खून भी लाल है। चाहें तो फरिया लीजिए, हमने भी चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं।

अमित शाह का इवीएम पर हंगामा करने वाली पार्टियों से सवाल
EVM में गड़बड़ी के विषय पर प्रोएक्टिव कदम उठाते हुए चुनाव आयोग ने सार्वजनिक रूप से चुनौती देकर इसके प्रदर्शन का आमंत्रण दिया था, परन्तु उस चुनौती को किसी भी विपक्षी दल ने स्वीकार नहीं किया। इसके बाद चुनाव आयोग ने EVM को VVPAT से जोड़ कर चुनावी प्रक्रिया को और पारदर्शी किया। VVPAT प्रक्रिया के आने के बाद मतदाता मत देने के बाद देख सकता है कि उसका मत किस पार्टी को रजिस्टर हुआ। प्रक्रिया के इतने पारदर्शी होने के बाद इस पर प्रश्न उठाना कितना उचित है।

Back to top button