छत्तीसगढ़

केन्द्रीय जेल में वीआईपी ट्रीटमेंट, प्रशासन और पुलिस ने मारा छापा

अलग-अलग टीमों ने बैरक से लेकर भोजन तक की पड़ताल

भरत ठाकुर –

बिलासपुर: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर केंन्द्रीय जेल में रसूखदारों को वीआईपी ट्रीटमेंट देने टीम की शिकायत मिलते ही जिला और पुलिस प्रशासन की टीम ने जेल में दाबिश दी।

पुलिस और प्रशासन की इस बड़ी कार्यवाही से जेल में एकदम हड़कंप मच गया। बता दें कि केन्द्रीय जेल बिलासपुर में बंद कैदियों व बदियों को ही जाने वाली सुविधाओं को लेकर जिला प्रशासन के पास लगाातार शिकयतें मिल रही थी, वहीं कलेक्टर पी. दयानंद के पर शिकायत पहुंची कि केन्द्रीय जेल में कुछ रकम खर्च करके रसूखदार बंदी पूर्ण सुविधा ले रहें।

इस शिकायत का गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एन. शेख से से चर्चा कर एडीएम केडी कुजांम और अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक नीमा चंद्राकर में नेतृत्व में अलग-अलग टीमों ने केन्द्रीय जेल में छापा डाला।

टीम ने जेल के बैरकों का निरीक्षण करने के बाद कैदियों को दी जाने वाली सारी सुविधाओं की बारीकी से भी जायजा लिया। हालांकि टीम को जांच में कुछ नहीं मिलने की बात कही जा है, लेकिन जेल में रसूखदारों को मिलने वाले वीआईपी ट्रीटमेंट की बात से पूरी तरह इनकार भी नहीं किया जा सकता।

निरीक्षण के दौरान एसडीएम देवेन्द्र पटेल, सीएसपी सिविल लाइन नसर सिद्विकी, प्रशिक्षुक डीएसपी सिल्पा साहू व प्रतीक चतुर्वेदी भी मौजूद रहे। टीम ने अपनी रिपोर्ट कलेक्टर को सौंप दी है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.