आज वेस्टइंडीज के खिलाफ मैदान पर उतरेगी विराट एंड कंपनी

लोकेश राहुल पृथ्वी शॉ के साथ मिलकर पारी का करेंगे आगाज

नई दिल्ली :

इंग्लैंड में मिली शिकस्त को पीछे छोड़ अपनी सरजमीं पर अपना दबदबा कायम रखने विराट एंड कंपनी गुरुवार को वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रही दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले के लिए मैदान में उतरेगी । साथ ही ऑस्ट्रेलिया के कड़े दौरे से पहले टीम संयोजन को आजमाने का भी होगा।

भारतीय टीम को पिछले नौ महीनों में दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में हार झेलनी पड़ी है। ऐसे समय में वेस्टइंडीज पर बड़ी जीत से भारतीय टीम का मनोबल बढ़ेगा जिसे नवंबर में शुरू होने वाले ऑस्ट्रेलियाई दौरे में फिर से कड़ी परीक्षा से गुजरना है।

तीन स्पिनर उतरेगा भारत

लोकेश राहुल प्रतिभाशाली पृथ्वी शॉ के साथ मिलकर पारी का आगाज करेंगे। इनकी जोड़ी भले ही यहां चल जाए लेकिन जरूरी नहीं है कि ऑस्ट्रेलिया में वह चल सके जहां की परिस्थितियां पूरी तरह भिन्न हैं।

शॉ को घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने वाले मयंक अग्रवाल पर तरजीत दी है। भारतीय टीम को इंग्लैंड दौरे में कई बदलाव करने के कारण आलोचना झेलनी पड़ी। इसके बाद सलामी बल्लेबाज मुरली विजय और शिखर धवन को अपनी जगह गंवानी पड़ी।

यहां तक कि इंग्लैंड दौरे में बेंच पर बैठे रहने वाले करुण नायर को बाहर करने पर भी सवाल उठने लग गए हैं। इसीलिए नई सलामी जोड़ी उतारी जा रही है। गेंदबाजी विभाग की बात करें तो भारत तीन स्पिनरों आर अश्विन,

रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव के साथ उतरेगा। उमेश यादव और मोहम्मद शमी तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुआई करेंगे। चोटिल हार्दिक पांड्या की अनुपस्थिति में जडेजा आलराउंडर की भूमिका निभाएंगे। एशिया कप में वनडे में शानदार वापसी करने वाले जडेजा अपने घरेलू मैदान पर चमक बिखेरने के लिए तैयार होंगे।

पंत पर रहेगी निगाह

युवा विकेटकीपर ऋ षभ पंत पर भी निगाह रहेगी। पंत ने ओवल में 114 रन की पारी खेलकर टीम में अपनी जगह सुरक्षित रखी है। ओवल में अपने पदार्पण पर 56 रन बनाने वाले हनुमा विहारी को अंतिम एकादश में जगह नहीं मिलेगी क्योंकि टीम पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ खेलेगी। भारत की यह सबसे दमदार टीम नहीं है लेकिन तब भी वह अनुभवहीन वेस्टइंडीज पर दबदबा बनाने में सक्षम है।

विंडीज के पांच खिलाड़ी ही खेले हैं भारत में

कैरेबियाई टीम में प्रतिभा की कमी नहीं है लेकिन उन्हें भारत में खेलने का खास अनुभव नहीं है। उसकी 15 सदस्यीय टीम में से सिर्फ पांच को ही भारत में टेस्ट खेलने का अनुभव है।

इनमें तेज गेंदबाज केमार रोच भी शामिल हैं जो बारबाडोस में अपनी नानी के निधन के कारण पहले मैच में नहीं खेल पाएंगे। उनके अलावा बिशू, ब्रेथवेट, पावेल और गैब्रियल शामिल ही भारत में खेले हैं।

कोच स्टुअर्ट लॉ की देखरेख में टीम ने कुछ अच्छे परिणाम दिए हैं। उसने पिछले साल इंग्लैंड को लीड्स में हराया जिसमें शाई होप ने 147 और नाबाद 118 रन की पारियां खेली थी। वेस्टइंडीज स्वदेश में श्रीलंका के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ खेलने और बांग्लादेश पर 2-0 की जीत दर्ज करने के बाद भारत दौरे पर आ रहा है।

Back to top button