Uncategorized

कोहली ने बतौर कप्तान 17 पारियों में बना डाले एक हजार रन

भारतीय कप्तान और ‘रन मशीन’ विराट कोहली ने अपने खाते में एक और रिकॉर्ड दर्ज कर लिया है। उन्होंने विदेशों में सबसे तेज 1000 रन बनाने के सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। सचिन ने बतौर कप्तान 19 पारियों में 1000 रन बनाए थे, जबकि कोहली ने यह मुकाम सिर्फ 17 पारियों में हासिल कर लिया। जुलाई की शुरुआत में वेस्टइंडीज के खिलाफ अंतिम वनडे मैच में कोहली ने लक्ष्य का पीछा करते हुए सचिन तेंदुलकर के शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ा था। दूसरी ओर सचिन तेंदुलकर ने जहां 232 पारियों में 17 वनडे शतक जड़े थे, वहीं कोहली ने सिर्फ 102 वनडे मैचों में 18 शतक जड़ दिए हैं। बता दें कि गैरी सोबर्स ने 13 पारियों, एलिस्टर कुक ने 14 और बॉब सिंपसन ने 16 पारियों में बतौर कप्तान 1000 रन बनाए थे।

फिलहाल भारतीय टीम श्रीलंका में 3 टेस्ट, 5 वनडे और एक टी20 मैच खेलने पहुंची है। गॉल टेस्ट की दूसरी पारी में विराट कोहली ने अपने टेस्ट करियर का 17वां शतक जड़ा। भारत इस मैच में मजबूत स्थिति में पहुंच गया है। उसने श्रीलंका को 550 रनों का लक्ष्य दिया है। पहली पारी में भारत ने शिखर धवन और चेतेश्वर पुजारा के शतकों की बदौलत 600 रनों का स्कोर खड़ा किया था, जिसके जवाब में श्रीलंका की पूरी टीम 291 रनों पर अॉल आउट हो गई थी, जिससे भारत को 309 रनों की बढ़त मिली थी। इसके बाद भारत ने 240-3 रनों पर पारी घोषित कर दी।

28 साल के विराट कोहली 57 टेस्ट मैचों में 17 शतक ठोक चुके हैं। इस दौरान उनका सर्वाधिक स्कोर 235 रन है। उन्होंने इस प्रारूप में 4497 रन बनाए हैं।

वनडे क्रिकेट में तो कोहली का प्रदर्शन और भी शानदार है। उन्होंने 189 वनडे मैचों में 8257 रन बनाए हैं, जिसमें 28 शतक और 43 अर्धशतक शामिल हैं। वह वनडे में 766 चौके और 91 छक्के मार चुके हैं। 49 टी20 मैचों में कोहली 1748 रन बना चुके हैं। हालांकि वह अब तक कोई टी20 शतक नहीं लगा पाए हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर 90 रन नाबाद है। कोहली ने आईपीएल में 4 सेंचुरी जड़ी हैं।

Tags
Back to top button