विराट, पांड्या, नहीं बल्कि इस ‘खिलाड़ी’ के एक फैसले ने बदल दी पूरी सीरिज

इंदौर: भारत को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली जीत का श्रेय भले ही आल राउंडर हार्दिक पंड्या को दिया जा रहा है। लेकिन उनकी कामयाबी के पीछे एक और खिलाड़ी का हाथ है जो विराट या धोनी नहीं बल्कि मुख्य कोच रवि शास्त्री का है।

पांड्या को नं 4 पर भेजने का फैसला रवि शास्त्री का ही था। जिसका घरेलू टीम को फायदा मिला जिसने यहां तीसरे वनडे में आस्ट्रेलिया पर 5 विकेट की जीत से सीरीज अपने नाम कर ली।

चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे पंड्या ने 72 गेंद में 78 रन की शानदार पारी खेली जिससे भारत ने जीत के लिये 294 रन के प्रतिस्पर्धी लक्ष्य का पीछा किया। कोहली ने पंड्या की तारीफ करते हुए इस विस्फोटकीय आल राउंडर को टीम के लिए अहम बताया।

उन्होंने मैच के बाद कहा कि मैं इस जीत से सचमुच काफी संतुष्ट हूं। वह (पंड्या) स्टार है, उसमें गेंद से, बल्ले से अच्छा करने की काबिलियत है और वह क्षेत्ररक्षण भी अच्छा करता है।

हमें ऐसे खिलाड़ी की जरूरत थी। हमें एक विस्फोटक आलराउंडर की कमी खल रही थी। वह भारतीय क्रिकेट के लिए काफी अहम है।

उन्होंने साथ ही कहा कि उसे बल्लेबाजी क्रम में ऊपर बुलाने का फैसला रवि (शास्त्री) भाई का था। कोहली ने कलाई के दोनों स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि कलाई के स्पिनरों का समर्थन करने की जरूरत है, उन्हें हमेशा विकेट से मदद नहीं मिलेगी लेकिन उनमें विकेट लेने की क्षमता है।

वहीं आस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने कहा कि हम 37-38 ओवरों में अच्छी स्थिति में थे। लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने अच्छी रणनीति बनाई और हम इसमें विफल रहे। उन्होंने कहा कि हमें 330 से ज्यादा रन की जरूरत थी।

हार्दिक पंड्या काफी शानदार रहे। फिंच ने भी अच्छा खेल दिखाया, दोनों टीमों के लिए विकेट थोड़ा धीमा हो गया था। दोनों पारियों में पहले 35 ओवरों में गेंद बल्ले पर आ रही थी।

Back to top button