सिमला में दृष्टि बाधित श्रवण एवं वाणी दोष पाठशाला पहुंचे राहुल

दिव्यांग बच्चों के साथ राहुल ने खेला शतरंज

शिमला।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने शिमला में दृष्टि बाधित श्रवण एवं वाणी दोष पाठशाला में जाकर शरीरिक रूप से अक्षम छात्रों से जाकर मिले। वहाँ वे उन लोगों के साथ शतरंज खेल रहे थे जो शरीरिक रूप से अक्षम थे।

राहुल शतरंज बखूबी खेलते हैं, इस बात की जानकारी उन्होंने खुद शिमला के ढली इलाके में बनी दृष्टि बाधित श्रवण एवं वाणी दोष पाठशाला में दी। खेल-खेल में शरीरिक रूप से अक्षम छात्रों ने राहुल गांधी के खूब पसीने छुड़वाए।

यूं तो गांधी परिवार का इस पाठशाला से गहरा नाता रहा है। यह पाठशाला छराबड़ा में बनाए गए प्रियंका गांधी के बंगले के रास्ते में पड़ता है। इस लिहाज से गांधी परिवार अक्सर इस स्कूल में आता रहता है।

गुरूवार शाम भी अचानक यहां कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी बहन प्रियंका के साथ पहुंचे, तो उन्होंने यहां पढ़ाई कर रहे बच्चों के साथ शतरंज खेलने की इच्छा जाहिर की।

पाठशाला के प्रबंधकों ने राहुल गांधी के बच्चों के साथ शतरंज खेलने की इच्छा को मान लिया और पाठशाला में पढ़ाई कर रहे जतिन डोगरा और अमित को राहुल गांधी के साथ शतरंज की बाजी लगाने को कहा।

हालांकि शतरंज के खेल में बच्चों को राहुल गांधी से बाजी हारनी पड़ी लेकिन फिर भी दोनों छात्रों ने राहुल को कड़ी चुनौती दी। ये दोनों छात्र हाल ही में राज्य स्तर की प्रतियोगिता में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं।

यही वजह रही कि राहुल गांधी भले ही राजनीति के माहिर खिलाड़ी रहे हैं, लेकिन शरीरिक रूप से अक्षम इन दोनों ही छात्रों ने राहुल गांधी को काफी देर तक उलझाए रखा।

new jindal advt tree advt
Back to top button