छत्तीसगढ़

राजसभा में सांसद विवेक के तन्खा ने देश में विभिन्न रेलगाड़ियों के परिचालन के संबंध में किया प्रश्न 

आज राजसभा में सांसद विवेक के तन्खा ने देश मे विभिन्न रेलगाड़ियों के परिचालन के संबंध में प्रश्न किया,की क्या रेल मंत्री बताने की कृपा करेंगे कि

रायपुर : आज राजसभा में सांसद विवेक के तन्खा ने देश मे विभिन्न रेलगाड़ियों के परिचालन के संबंध में प्रश्न किया,की क्या रेल मंत्री बताने की कृपा करेंगे कि

(क) वर्तमान में पूरे देश में किस-किस रेलवे जोन में अपने-अपने रेल मार्गों पर पड़ने वाले प्रत्येक स्टेशन पर रूकने वाली पैसेंजर, मेमू लोकल एवं ईएमयू लोकल ट्रेनें चलाई जा रही हैं;

(ख) कुछ अन्य जोनों में पैसेंजर/लोकल ट्रेनें नहीं चलाने के क्या कारण हैं;

(ग) क्या पश्चिम बंगाल में पैसेंजर/लोकल ट्रेनें चलाने की मंजूरी दी गई है, यदि हां, तो अन्य राज्यों को ऐसी अनुमति न देने के क्या कारण हैं;

(घ) क्या विशेष ट्रेनों में पूर्व में अधिसूचित किराया सारिणी से अधिक किराया वसूला जा रहा है; और

(ङ) यदि हां, तो अधिक किराया लेने के क्या कारण हैं, तत्संबंधी विशेष-ट्रेन-वार ब्यौरा क्या है?

तब रेल, वाणिज्य एवं उद्योग और उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल ने अपने जवाब में कहा कि
(क) से (ग): भारतीय रेलवे ने संबंधित राज्य सरकारों के परामर्श से मध्य रेलवे, पश्चिम रेलवे, पूर्व रेलवे, दक्षिण पूर्व रेलवे, दक्षिण रेलवे, पूर्व मध्य रेलवे, पश्चिम मध्य रेलवे, दक्षिण पश्चिम रेलवे और पूर्वोत्तर सीमा रेलवे पर लगभग 5070 यात्री/इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट (ईएमयू)/मेनलाइन इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट (मेमू) का परिचालन किया है। इसके अलावा, भारतीय रेल मौजूदा स्थिति पर कड़ी नजर रख रही है, राज्य सरकारों के साथ लगातार संपर्क में है क्रमिक रूप से गाड़ियां बढ़ाई जा रही है।

(घ) और (ङ): कोविड-19 से पूर्व के समय के दौरान, लंबी दूरी के यात्रियों के लिए, भारतीय रेल में दो प्रकार की रेल सेवाएं चल रही थीं। (i) नियमित समय-सारणीकृत रेलगाड़ियां और (ii) त्योहारों/पीक मांग अवधि/ भीड़भाड़ की अवधि आदि के दौरान विशेष रेलगाड़ियां।

इसके अलावा, स्पेशल गाड़ियां तीन प्रकार की थीं:

(1) सामान्य किराए पर द्वितीय श्रेणी अनारक्षित स्पेशल

(2) सामान्य किराया और विशेष शुल्क पर स्पेशल गाड़ियां (निर्धारित अधिकतम और न्यूनतम सीमा के आधार पर द्वितीय श्रेणी आरक्षित में 10% और अन्य श्रेणियों में 30%), और

(3) न्यूनतम तत्काल किराए और तत्काल किराए का अधिकतम तीन गुना पर सुविधा स्पेशल। विशेष किराए पर स्पेशल गाड़ियों और सुविधा गाड़ियों के संबंध में, द्वितीय श्रेणी अनारक्षित हेतु सामान्य द्वितीय श्रेणी मेल/एक्सप्रेस सुपरफास्ट किराया था।

कोविड-19 के कारण स्वास्थ्य संबंधी सलाह को ध्यान में रखते हुए नियमित समय-सारणीकृत गाड़ियों के लिए लागू किराए पर नियमित रेल सेवाएं कोविड स्पेशल के रूप में चल रही हैं। कोविड काल के दौरान, चूंकि विभिन्न क्षेत्रों में यात्रियों की मांगें एक समान नहीं हैं, अतः विभिन्न क्षेत्रों पर विशेष शुल्क पर कुछ विशेष रेलगाड़ियां शुरू की गई हैं ताकि उपरोक्त (2) के अनुसार विशेष शुल्क पर विशेष रेलगाड़ियों के लिए पहले से प्रकाशित किराए के अनुसार विभिन्न सेक्टरों में अतिरिक्त मांग को पूरा किया जा सके। इसके अलावा वैश्विक महामारी को देखते हुए अनारक्षित द्वितीय श्रेणी को आरक्षित द्वितीय श्रेणी घोषित किया गया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button