मतदाता सूची पुनरीक्षण : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने ली राजनीतिक दलों की बैठक

रायपुर।

छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने आज यहां अपने कार्यालय में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की बैठक ली। उन्होंने बैठक में अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कराए जा रहे फोटोयुक्त निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम की जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि 01 जनवरी 2019 की स्थिति में मतदाता सूची का पुनरीक्षण कराया जा रहा है। अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. एस. भारतीदासन एवं उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी यूएस अग्रवाल भी बैठक में मौजूद थे।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने बैठक में फोटोयुक्त निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण में बूथ लेवल अधिकारी और विहित अधिकारी के कार्यों और भूमिका की जानकारी दी।

उन्होंने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से अपील की कि वे अधिक से अधिक पात्र मतदाताओं को मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने बताया कि 01 जनवरी 2019 को 18 वर्ष की आयु पूरी कर रहे युवा मतदाता सूची में नाम जुड़वा सकते हैं।

पुनरीक्षण के दौरान नए मतदाता जोड़ने के साथ ही स्थानांतरित मतदाताओं का नए निवास स्थान के अनुसार संशोधन और मृत मतदाताओं के नाम हटाने की कार्यवाही की जाएगी। बैठक में इंडियन नेशनल कांग्रेस की ओर से केके शुक्ला एवं अफसार अली तथा भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के एसएन कमलेश शामिल हुए।

उल्लेखनीय है कि भारत निर्वाचन आयोग ने फोटोयुक्त मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण के लिए चरणबद्ध कार्यक्रम जारी किया है। आयोग द्वारा मतदाता सूची के पुनरीक्षण के लिए जारी कार्यक्रम के अनुसार 26 दिसम्बर 2018 को विस्तृत मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाएगा।

इसके बाद 26 दिसम्बर 2018 से 25 जनवरी 2019 तक इसमें दावा या आपत्ति प्रस्तुत की जा सकेगी। प्राप्त दावों एवं आपत्तियों का निराकरण 11 फरवरी 2019 के पहले किया जाएगा। इसके बाद 18 फरवरी से पहले डॉटाबेस को अपडेट एवं पूरक मतदाता सूची तैयार की जाएगी। संशोधन एवं नए नाम जोड़ने के बाद 22 फरवरी को अंतिम रूप से पुनरीक्षित मतदाता सूची का प्रकाशन किया जाएगा।

new jindal advt tree advt
Back to top button