आज हरियाणा और राजस्‍थान में डाले जाएंगे उपचुनाव में वोट

जींद में 3 हजार सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया

जयपुर: आज हरियाणा और राजस्‍थान में दो सीटों के लिए उपचुनाव में वोट डाले जाएंगे. हरियाणा और राजस्थान में इस उपचुनाव के नतीजे कांग्रेस और बीजेपी के लिए काफी अहमियत रखते है.

ऐसे में इन दो सीटों के नतीज काफी हद तक आगे की राजनीति की रणनीति तय करेंगे. वोटिंग सुबह 7 बजे से शुरू होगी. सुरक्षा के सभी इंतजाम किए जा चुके हैं. 3 हजार सुरक्षा कर्मियों को जींद में तैनात किया गया है, 50 से ज्यादा पेट्रोलिंग पार्टियां बनाई गई है.

वहीं रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 2.35 लाख मतदाता हैं, जिनमें से 1.10 लाख महिला मतदाता है. सोमवार को होने वाले चुनाव के लिये 278 मतदान केंद्र बनाये गये हैं. चुनाव परिणाम 31 जनवरी को घोषित किये जायेंगे.

हरियाणा की सियासी राजधानी का किंग कौन, जनता आज करेगी फैसला

हरियाणा की सियासी राजधानी माने जाने वाले जींद के उपचुनाव के साथ ही पहली बार हरियाणा में वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल होगा. इतना ही नहीं, जरूरत पडऩे पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट और सुपरवाइजर व्ह्टसएप्प वीडियो कॉलिंग के जरिए मौके पर चल रही हलचल को आला अधिकारियों के समक्ष पेश करते भी नजर आएंगे. जींद उपचुनाव के लिए कांग्रेस, बीजेपी, जेजेपी, इनेलो पार्टियों के प्रत्याशियों सहित कुल 21 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं.

जींद उपचुनाव में बात करें प्रत्याशियों की तो चुनावी रण में कांग्रेस ने रणदीप सिंह सुरजेवाला पर अपना दांव खेला है. वहीं इनेलो उमेद सिंह रेडडू पर अपना भविष्य आजमा रही है. इसके अलावा बीजेपी ने डॉ. कृष्ण मिडढा को, तो हाल ही में इनेलो से निष्काषित होने के बाद हरियाणा में नया उदय करने वाले सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपनी पार्टी जननायक जनता दल से अपने छोटे भाई दिग्विजय सिंह चौटाला को चुनावी रण में उतारा है.

ईवीएम मशीनों पर वोटिंग बटन के नजदीक तमाम प्रत्याशियों की फोटो भी लगी हुई है, वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल होगा. कुल 21 उम्मीदवारों के भविष्य का फैंसला जींद विधानसभा के 1 लाख 72 हजार 775 वोटर इस्तेमाल करेंगे.

वॉट्स एप कॉल से रखेंगे निगाह

इलेक्शन के रिटर्निंग ऑफिसर वीरेंद्र सहरावत ने बताया, ”जींद विधानसभा के उपचुनाव को पारदर्शिता ढंग से करवाने के लिए तकनीक का सहारा भी लिया जाएगा. इसके लिए वॉट्स एप का भी उपयोग होगा. ड्यूटी मजिस्ट्रेट और सुपरवाइजरर्स को व्ह्टसएप्प वीडियो कॉलिंग के जरिए कनेक्ट किया गया है, ताकि किसी भी बूथ के मौके पर चल रही हलचल पर नजर रखी जा सके. सुबह 7 बजे से पोलिंग शुरू हो जाएगी.

3 हज़ार जवान संभालेंगे मोर्चा

3 हजार सुरक्षा कर्मियों को जींद में तैनात किया गया है, 50 से ज्यादा पेट्रोलिंग पार्टियां बनाई गई है. इतना ही नहीं, सुरक्षा ऐसी की गई है कि परिंदा भी पर नहीं मार सकता. उपचुनाव के लिए सुरक्षा का जिम्मा हरियाणा पुलिस के साथ-साथ आरएएफ और आरपीएफ को दिया गया है. 3 हजार से अधिक हरियाणा पुलिस के जवान और 500 होमगार्ड जींद उपचुनाव को शांति से संपन्न करवाने के लिए लगाए गए है.

रामगढ़ विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला

राजस्थान के अलवर जिले के रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सोमवार को होने वाले चुनाव में सत्ताधारी कांग्रेस, विपक्षी भाजपा और बसपा प्रत्याशी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है. उल्लेखनीय है कि सात दिसम्बर को राजस्थान विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पूर्व रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के बसपा प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह के निधन के कारण इस सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया था.

रामगढ़ विधानसभा सीट पर 28 जनवरी को होने वाले चुनाव के लिये कांग्रेस, भाजपा, बसपा सहित 20 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है. बसपा ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री नटवर सिंह के पुत्र जगत सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है, जबकि सत्ताधारी कांग्रेस ने अलवर की पूर्व जिला प्रमुख साफिया जुबेर खान को और भाजपा ने पूर्व प्रधान सुखवंत सिंह को टिकट दिया है.

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बताया कि हमें रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र से सकारात्मक फीडबैक मिल रहा है और इस सीट पर हमारी जीत तय है. सात दिसम्बर को हुए चुनाव में राजस्थान की जनता ने कांग्रेस को बहुमत दिया है और रामगढ़ सीट पर भी पार्टी की जीत होगी.

अपनी जीत के प्रति आश्वस्त कांग्रेस की प्रत्याशी 51 वर्षीय साफिया जुबेर खान ने कहा कि राज्य में कांग्रेस की सरकार के बनने के बाद क्षेत्र के लोगों को विकास की उम्मीद है इसलिये पार्टी के प्रति सकारात्मक माहौल बना हुआ है.

कांग्रेस पार्टी की प्रदर्शन से लोग संतुष्ट नहीं

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी ने रामगढ़ से भाजपा प्रत्याशी के चुनाव जीतने का दावा करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी की प्रदर्शन से लोग संतुष्ट नहीं है, इसलिये रामगढ़ सीट पर भाजपा प्रत्याशी की जीत होगी. सैनी ने कहा कि कांग्रेस किसानों और युवाओं के साथ किये गये विभिन्न वादों को लेकर सत्ता में आयी है.

कांग्रेस ने किसानों को दस दिन में कर्जा माफ करने का वादा किया था लेकिन सरकार ने अभी तक किसानों का कर्जा माफी नहीं किया है. भाजपा प्रत्याशी जगत सिंह इससे पूर्व 2003—08 में अलवर के लक्ष्मणगढ़ सीट से कांग्रेस के विधायक रह चुके है. बसपा के प्रदेशाध्यक्ष सीताराम मेघवाल ने बताया कि जातिगत समीकरण बसपा के पक्ष में हैं इसलिये इस सीट पर उनकी पार्टी चुनाव जीतेगी.

99 सीट पर कांग्रेस

राज्य में सात दिसम्बर को हुए 199 विधानसभा सीटों के चुनाव में 99 सीट पर कांग्रेस, एक सीट पर कांग्रेस की गठबंधन सहयोगी आरएलडी ने जीत दर्ज की थी. भाजपा ने 73 सीटों पर बसपा ने छह, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने तीन, माकपा और बीटीपी ने दो-दो सीटों पर जीत दर्ज की थी. 13 सीटें निर्दलीयों को मिलीं.

1
Back to top button