राष्ट्रीय

शरद पूर्णिमा आज चंद्रमा की किरणों से बरसेगा अमृत, खीर खाने से होगा विशेष लाभ

आज शरद पूर्णिमा की रात है. आज की रात चंद्रमा की किरणों से अमृत बरसता है, ऐसी मान्यता है. सनातन धर्म में शरद पूर्णिमा के अनेक लाभ बताए गए हैं, जैसे इस रात चंद्रमा सोलह कला पूर्ण होता है और आज की रात पृथ्वी के सबसे निकट होता है. आज खुले आसमान में चंद्रमा की किरणें व्यक्ति को निरोगी बना देती हैं. धार्मिक मान्यताओं के साथ-साथ शरद पूर्णिका के कुछ चिकित्सीय और वैज्ञानिक लाभ भी बताए गए हैं. आज इस विशेष दिन हम आपको इन्हीं महत्व के बारे में बताएंगें.

शरद पूर्णिमा वाली रात को जागरण करने और रात में चांद की रोशनी में खीर रखने का विशेष महत्व होता है. इस रात को चंद्रमा अपनी पूरी सोलह कलाओं के प्रदर्शन करते हुए दिखाई देते हैं. शरद पूर्णिमा को कोजागरी या कोजागर पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है.

शास्त्रों के अनुसार देवी लक्ष्मी का जन्म शरद पूर्णिमा के दिन हुआ था. माना जाता है कि इस दिन देवी लक्ष्मी अपनी सवारी उल्लू पर बैठकर भगवान विष्णु के साथ पृथ्वी का भ्रमण करने आती हैं. इसलिए आसमान पर चंद्रमा भी सोलह कलाओं से चमकता है. शरद पूर्णिमा की धवल चांदनी रात में जो भक्त भगवान विष्णु सहित देवी लक्ष्मी और उनके वाहन की पूजा करते हैं.

मान्यताओं के अनुसार, शरद पूर्णिमा का चांद अपनी सभी 16 कलाओं से संपूर्ण होकर अपनी किरणों से रात भर अमृत की वर्षा करता है. ऐसे में इस रात को आसमान में खीर रखने से खीर अमृत समान होती है.

पूजा की विधि

चंद्रमा की किरणों से अमृत टपकता है और ये किरणें हमारे लिए भी बहुत लाभदायक होती हैं. शरद पूर्णिमा के दिन सुबह अपने इष्ट देवता का ध्यान करते हुए पूजा अर्चना करनी चाहिए. शाम में चंद्रोदय के समय चांदी या मिट्टी से बने घी के दिए जलायें. प्रसाद के लिए घी युक्त खीर बना लें. चांद की चांदनी में इसे रखें. लगभग तीन घंटे के पश्चात माता लक्ष्मी को यह खीर अर्पित करें.

पूर्णिमा का महत्व

पूरे साल में सिर्फ इसी दिन चंद्रमा अपनी 16 कलाओं से परिपूर्ण होकर धरती पर अपनी अद्भुत छटा बिखेरता है. रात में खीर बनाकर खुले आसमान के नीचे रखकर अगले दिन सुबह उसे प्रसाद के रूप में खाते हैं. इस अवसर पर सर्वाथ सिद्धि योग भी बना हुआ है. ग्रहों और नक्षत्रों का यह संयोग बहुत ही शुभ है जिसमें धन लाभ संबंधी कोई भी काम करना शुभ फलदायी रहेगा.

Summary
Review Date
Reviewed Item
शरद पूर्णिमा
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *