जेट से करा रखे हैं टिकट तो रिफंड के लिए करना होगा लंबा इंतजार

नई दिल्ली। जेट एयरवेज ने कहा है कि वह रिफंड का आवेदन मिलने के 45 दिनों में इसकी पड़ताल पूरी कर लेगी, लेकिन उसने यह नहीं बताया कि रिफंड कितने दिनों में दिया जाए। ऐसे में कम से कम दो महीने में रिफंड मिलना मुश्किल नजर आ रहा है।

संकटग्रस्त एयरलाइन ने ट्रैवल एजेंटों को भेजे संदेश में कहा है कि वह आवेदन मिलने के 45 दिनों में रिफंड की वैधता की पड़ताल पूरी कर लेगी। 17 अप्रैल को सेवाएं बंद कर चुकी एयरलाइन पर हवाईयात्रियों का करीब 3500 करोड़ रुपये बकाया है। उसने कहा कि एजेंट इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (आईएटीए) पोर्टल से रिफंड आवेदन भेज सकते हैं। 23 अप्रैल से 20 मई तक इसके आवेदन स्वीकार किए जाएंगे।

आवेदन मिलने के 45 दिनों के भीतर इसकी पुष्टि की जाएगी और रिफंड की प्रक्रिया शुरू होगी। रिफंड की राशि आईएटीए के पास मौजूद राशि पर निर्भर करेगी और इसमें कमी आएगी तो जेट वह राशि आईएटीए को भेजेगी। एजेंसियों को हर हफ्ते रिफंड आवेदन भेजने को कहा गया है। क्रेडिट कार्ड से किए गए भुगतान भी आवेदन की पड़ताल के बाद कार्ड कंपनियां हर हफ्ते निपटाएंगी।

गौरतलब है कि मेकमाई ट्रिप, गोइबिबो, एक्सिगो जैसी तमाम ट्रैवल साइट के जरिये टिकट बुक कराने वाले यात्री भी रिफंड को लेकर परेशान हैं। एजेंसियों का कहना है कि वे एयरलाइन से रिफंड मिलते ही ग्राहकों तक इसे पहुंचाने को तैयार हैं। हालांकि 18 अप्रैल के पहले रिफंड आवेदन करने वालों का पैसा जल्दी मिलेगा।

गौरतलब है कि हवाई यात्री दोहरी मुसीबत झेल रहे हैं। टिकट रद्द होने के बाद उनका रिफंड नहीं मिल रहा है, वहीं दूसरी ओर उन्हें 50 से 60 फीसदी ज्यादा दाम पर टिकट खरीदना पड़ रहा है।

Back to top button