राहुल गांधी के कहने पर गया था पाकिस्तान -नवजोत सिंह सिद्धू

तेलंगाना के सीएम को सिद्धू ने बताया गिरगिट

नई दिल्ली :

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रचार करने पहुंचे पूर्व क्रिकेटर से जब करतारपुर कॉरिडोर को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘राहुल गांधी मेरे कप्तान हैं। उन्होंने ही मुझे हर जगह भेजा है। पाकिस्तान से लौटकर आने पर शशि थरूर, हरीश रावत, रणदीप सुरजेवाला जैसे शीर्ष नेताओं ने मेरी पीठ भी थपथपाई थी।’

पाकिस्तान जाने को लेकर सिद्धू के फैसले की आलोचना हुई थी। यहां तक कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी उन्हें जाने से रोका था। इसके बावजूद सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल हुए।

इस पर सिद्धू ने कहा कि मुख्यमंत्री ने मुझे पाकिस्तान जाने से मना किया था, लेकिन 20 कांग्रेसी नेताओं और केंद्रीय नेतृत्व के कहने पर मैं वहां गया। अमरिंदर सिंह मेरे पिता समान हैं। मैं उन्हें पहले ही बता चुका था मैं पाकिस्तान जाऊंगा।

सिद्धू ने कहा कि राहुल गांधी सीएम साहब के भी कप्तान हैं। सिद्धू की यात्रा पर पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा था कि पाकिस्तान जाना उनकी अपनी मर्जी थी। उन्हें भी वहां जाने का न्योता मिला था, लेकिन अमृतसर में निरंकारी भवन पर आतंकी हमले का हवाला देते हुए उन्होंने पाकिस्तान जाने से इनकार कर दिया था।

सिद्धू ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव पर हमला बोलते हुए उनकी तुलना गिरगिट से की। सिद्धू ने कहा कि उन्होंने जनता को धोखा दिया है। वह अपने 300 करोड़ के बंगले में रहते हैं, लेकिन सचिवालय नहीं जाते। उन्होंने सिर्फ अपने परिवार को लाभ पहुंचाया है।

तेलंगाना में प्रचार के लिए सिद्धू ने नया नारा दिया। उन्होंने कहा, ‘हम राहुल गांधी के सिपाही हैं, मेरा नारा है कि बुरे दिन जाने वाले हैं और राहुल गांधी आने वाले हैं। लाल किला पर झंडा फहराने वाले हैं, कोई रोक सके तो रोक लो।’

पाकिस्तान जाने पर मचे विवाद को लेकर सिद्धू ने कहा कि जब मैं पहली बार पाकिस्तान गया था और वहां से लौटकर करतारपुर कॉरिडोर की बात की थी तब लोगों ने मेरा मजाक बनाया था। अब वही लोग अपने बयान पर यूटर्न लेकर खुद को गलत ठहरा रहे हैं।

Back to top button