देखते ही देखते 30 मीटर पीछे खिसक गया 2000 टन का मंदिर

शंघाई शहर में स्थित 135 साल पुराना बौद्ध मंदिर 30 मीटर पीछे खिसक गया। अब आप सोच रहे होंगे कि 2000 टन का मंदिर अपने आप कैसे खिसक गया तो आइए हम बताते हैं….

शंघाई के जेड बुद्ध मंदिर का महावीर हॉल 1882 में बनाया गया था। 2000 टन का ये मंदिर पहले वहीं स्थित एक दूसरे बड़े हॉल से महज 15 मीटर की दूरी पर था।

मंदिर के मुख्य हॉल में पर्यटकों की भीड़ के चलते उसे उत्तर की ओर 30 मीटर तक खिसका दिया गया है। साथ ही मंदिर को अपनी जगह से डेढ़ मीटर ऊपर उठा दिया गया है।

मंदिर को शिफ्ट करने का काम 2 सितंबर को शुरु हुआ था और मजदूरों की मदद से ये काम बीते रविवार पूरा हो सका। हॉल में स्थापित बौद्ध मूर्तियों को भी अपनी जगह से हटाकर दूसरी जगह पर रखा गया है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस मंदिर में रोजाना 100,000 से भी अधिक लोग आते हैं।

advt
Back to top button