खूंटाघाट और घोंघा जलाशय से रबी फसल के लिए किसानों को नहीं दिया जाएगा पानी

अंकित मिंज

बिलासपुर।

खूंटाघाट बांध और घोंघा जलाशय से रबी फसल के लिए किसानों को पानी नहीं दिया जाएगा लेकिन हसदो बांगो बांध से 75 हजार हेक्टेयर में रबी फसल की सिंचाई के लिए पानी छोड़ा जाएगा। इससे सबसे अधिक फायदा जांजगीर जिले को होगा। संभागीय आयुक्त टीसी महावर की अध्यक्षता में गुरुवार को संभागीय जल उपयोगिता समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक कलेक्टोरेट परिसर स्थित मंथन सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर डॉ. संजय अलंग,रामपुर के विधायक ननकीराम कंवर सहित सभी बड़े अधिकारी मौजूद रहे।

निस्तारी के लिए सुरक्षित

खूंटाघाट बांध में वर्तमान में लगभग 41 प्रतिशत पानी है। यह पानी ग्रीष्मकाल में सूखें तालाबों को भरने के लिए उपयोग किया जाएगा। ताकि लोगों को निस्तारी के लिए पानी मिल सके। इसलिए रबी फसल में इस जलाशय से किसानों को सिंचाई के लिए पानी नहीं दिया जाएगा।

घोंघा जलाशय में 21 प्रतिशत पानी: कोटा तहसील में बीते मानसून में बारिश कम हुई थी। इसके चलते घोंघा जलाशय में जलभराव काफी कम रहा। इस जलाशय में वर्तमान में सिर्फ 21 फीसदी पानी है। इसलिए रबी फसल में इस जलाशय से सिंचाई के लिए पानी नहीं दिया जाएगा। हसदो.बांगों से होगी सिंचाई: हसदो.बांगों बांध में लगभग 68 प्रतिशत पानी है। रबी फसल में इस बांध से सिंचाई के लिए किसानों को पानी दिया जाएगा।

इस बांध के दायरे में आने वाले लगभग 75 हजार हेक्टेयर के फसल की सिंचाई के लिए पानी देने का निर्णय संभागीय जल उपयोगिता समिति ने लिया है। इस बांध से रबी फसल में धान या गेहूं के लिए पानी दिया जाएगा इसका अंतिम निर्णय राज्य शासन पर छोड़ दिया गया है।

खरीफ में 3.9 लाख हेक्टेयर की सिंचाई: खरीफ फसल में जल संसाधन सर्किल में आने वाले गांवों में सिंचाई के लिए 4 लाख 93 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। लेकिन 3 लाख 98 हजार हेक्टेयर में सिंचाई के लिए पानी दिया गया।

बारिश कम होने से मनियारी जलाशय में पानी कम होने की वजह से इस क्षेत्र के अंतर्गत 52 हजार हेक्टेयर के स्थान पर केवल 24 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई के लिए पानी मुहैया कराई गईं।

किसानों को नहीं देंगे पानी: रबी के लिए किसानों को पानी नहीं देंगे। खूंटाघाट बांध में 40 फीसदी पानी है। यह गर्मी में निस्तारी के लिए रखा है। घोंघा में 21 प्रतिशत पानी होने पर रबी फसल में किसानों को पानी नहीं देने का निर्णय लिया है।

किसानों को नहीं दिया जाएगा पानी

आरएस नायडू, अधीक्षण अभियंता, जल संसाधन खूंटाघाट और घोंघा जलाशय से रबी फसल के लिए किसानों को नहीं दिया जाएगा पानी।

new jindal advt tree advt
Back to top button