‘आतंकियों को जमीन के नीचे पहुंचाते रहेंगे’

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में सीमा पार से घुसपैठ की कोशिशों पर आर्मी चीफ जनरल विपिन रावत ने कहा है कि आतंकवादी आते रहेंगे, क्योंकि सीमा पार उनके कैंप चल रहे हैं।

हम भी उन्हें रिसीव करते रहेंगे और जमीन के ढाई फीट नीचे पहुंचाते रहेंगे।

बहादुर सैनिकों पर लिखी गई किताब ‘इंडियाज मोस्ट फियरलेस’ के सोमवार को राजधानी में हुए विमोचन के मौके पर उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक से हमारे दुश्मन समझ गए कि हम क्या कहना चाहते हैं। वे समझ गए हैं कि यह चीज दोबारा जरूरत पड़ने पर फिर हो सकती है।

आर्मी चीफ से देश की इमेज के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हम पहले से ज्यादा मजबूत देश के रूप में सामने आए हैं जो राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में समय पर फैसला ले सकता है।

सैनिकों की क्षमताओं के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि आप हम पर भरोसा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे बल किसी भी मिशन, किसी भी समय और कहीं भी तैयार हैं। हम आश्वस्त करते हैं कि हमारी सेना हमारा सर ऊंचा रखेगी।

आर्मी चीफ ने कहा कि सैनिकों के सामने शांति बनाए रखने की कड़ी चुनौती होती है लेकिन उनकी डिक्शनरी में शांति नाम का शब्द नहीं होता, क्योंकि जब शांति होती है तो उन्हें भविष्य की स्थितियों के लिए तैयारियां करनी पड़ती हैं।

advt
Back to top button