हमने पक्के वादे और नेक इरादे के साथ निभाया अपना वचन: भूपेश बघेल

प्रदेश के 3.57 लाख किसानों को लौटायी गई 1248 करोड़ रुपए की लिकिंग की राशि

रायपुर।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शपथ ग्रहण के दस दिनों के भीतर किसानों की कर्ज माफी के वादे को पूरा कर दिया है। श्री बघेल ने बताया कि आज राज्य की 1276 सहकारी समितियों के तीन लाख 57 हजार किसानों के खातों में एक ही दिन में एक हजार 248 करोड़ की धन राशि आनलाइन हस्तांतरित कर दी गयी।

यह राशि लिकिंग के तहत किसानों द्वारा ली गयी थी, जो उन्हें मुख्यमंत्री के घोषणा के अनुरूप वापस की गयी है। बघेल ने कहा कि राज्य सरकार ने पक्के वादे और नेक इरादे के साथ अपना वचन पूरा कर रही है।

उल्लेखनीय है कि बघेल ने इस महीने की 17 तारीख को शपथ ग्रहण किया गया था। उनके निर्देश पर सहकारिता विभाग ने अल्पकालीन कृषि ऋण माफी योजना 2018 भी पहले ही जारी कर दी है।योजना के तहत सहकारी बैंकों और छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंकों के कुल 16 लाख 65 हजार किसानों के छह हजार 230 करोड़ रूपए माफ किये जाएंगे।

इस योजना के तहत सहकारी बैंकों और प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के लगभग 15 लाख किसानों के 30 नवम्बर 2018 तक की स्थिति में कृषि ऋणों की करीब पांच हजार 170 करोड़ रूपए की धन माफ की जा रही है। इसी कड़ी में एक नवम्बर 2018 से 30 नवम्बर 2018 के बीच प्राथमिक कृषि साख समितियों द्वारा लिकिंग अथवा नगद के रूप में चुकाई गयी ऋण राशि भी माफी योग्य है।

सहकारिता विभाग के अधिकारियों ने बताया कि प्रथमतः इन प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों द्वारा 24 दिसम्बर 2018 तक नगद/लिकिंग में लगभग तीन लाख 57 हजार किसानों से एक हजार 248 करोड़ रूपए की वसूली की गयी है, जिसको वापस करने की कार्रवाई की जा रही है।

ऋण माफी योजना के तहत किसानों के अधिकतम पांच लाख रूपए के ऋण माफ किये जाएंगे। छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक से सम्बद्ध लगभग एक लाख 65 हजार किसानों के 1060 करोड़ रूपए के ऋण माफी होंगे।

new jindal advt tree advt
Back to top button