राष्ट्रीय

साल 2019 में हम फिर से मिलेंगे, फिर से मन की बातें करेंगे -पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कार्यक्रम के अंत में कहा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम के दौरान देशवासियों को नव वर्ष और 2019 के त्‍योहारों की शुभकामनाएं दीं. पीएम मोदी ने कार्यक्रम के अंत में कहा ‘2018 का ये अंतिम कार्यक्रम है, साल 2019 में हम फिर से मिलेंगे, फिर से मन की बातें करेंगे.’

पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में अगले साल जनवरी में प्रयागराज में आयोजित होने वाले कुंभ का भी जिक्र किया. उन्‍होंने कहा कि हमारी संस्कृति की कई बातों पर हम गर्व कर सकते हैं उनमें एक है कुंभ मेला.

मेरा आप सभी से आग्रह है कि जब आप कुंभ जाएं तो कुंभ के अलग-अलग पहलू और तस्वीरें सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि अधिक-से-अधिक लोगों को कुंभ में जाने की प्रेरणा मिले.

उन्‍होंने कहा कि कुंभ की दिव्यता से भारत की भव्यता पूरी दुनिया में अपना रंग बिखेरेगी. इस बार श्रद्धालु संगम में पवित्र स्नान के बाद अक्षयवट के पुण्य दर्शन भी कर सकेगा.

लोगों की आस्था का प्रतीक यह अक्षयवट सैकड़ों वर्षों से किले में बंद था, जिससे श्रद्धालु चाहकर भी इसके दर्शन नहीं कर पाते थे. अब अक्षयवट का द्वार सबके लिए खोल दिया गया है.

दक्षिण अफ्रीका के राष्‍ट्रपति होंगे गणतंत्र दिवस के मुख्‍य अतिथि

जनवरी के गणतंत्र दिवस समारोह को लेकर हम देशवासियों के मन में बहुत ही उत्सुकता रहती है. उस दिन हम अपनी उन महान विभूतियों को याद करते हैं, जिन्होंने हमें हमारा संविधान दिया.

हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा इस साल गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि के रूप में भारत आएंगे. पूज्य बापू (महात्‍मा गांधी) और दक्षिण अफ्रीका का अटूट संबंध रहा है. यह दक्षिण अफ्रीका ही था, जहां से मोहन, ‘महात्मा’ बन गए.

2019 में देश नई ऊंचाइयों को छुएगा

पीएम मोदी ने कहा कि आप सभी ने सोचा होगा कि 2018 को कैसे याद रखा जाए. 2018 को भारत एक देश के रूप में, अपनी एक सौ तीस करोड़ की जनता के सामर्थ्य के रूप में, कैसे याद रखेगा- यह याद करना भी महत्वपूर्ण है. हम सब को गौरव से भर देने वाला है.

उन्‍होंने कहा कि साल 2018 को हमेशा याद किया जाएगा. इस साल सरदार वल्‍लभ भाई पटेल को समर्पित स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी देश को मिली. भारत को संयुक्‍त राष्‍ट्र का सर्वोच्‍च पर्यावरण पुरस्‍कार मिला. 2019 में भारत की उन्‍नति की यह यात्रा ऐसे ही जारी रहेगी और देश नई ऊंचाइयों को छुएगा.

Tags
Back to top button