सरकार जब तक हरी झंडी नही देती हम नही खेलेंगे पाक के साथ मैच: बीसीसीआई

इस बीच, भारत-पाकिस्तान क्रिकेट को लेकर आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने अहम बयान दिया है।

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ रहा है। इस हमले के बाद से आवाज उठ रही है|

कि भारत को पाकिस्तान के साथ सब तरह के संबंध तोड़ लेना चाहिए। इस बीच, भारत-पाकिस्तान क्रिकेट को लेकर आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने अहम बयान दिया है।

बकौल शुक्ला, बीसीसीआई की पॉलिसी बिल्कुल स्पष्ट है। जब तक सरकार हरी झडी नहीं देती है, हम पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलने पर कोई फैसला नहीं लेंगे।

मालूम हो, भारत ने इस हमले में अपने 40 वीर सपूत खोए हैं। आगामी दिनों में इंग्लैंड में खेले जाने वाले विश्व कप में भारत-पाक आमने-सामने होंगे।

30 मई से विश्व कप शुरू होगा और 16 जून को मैनचेस्‍टर में भारत-पाक मुकाबला होगा। सरकार का रवैया सख्त रहता है तो भारत यह मैच खेलने से इन्कार कर सकता है।

भारत-पाक के बीच सितंबर में टेनिस मुकाबला

भारतीय डेविस कप टेनिस टीम को पाकिस्तान से उसकी सरजमीं पर भिड़ना होगा, लेकिन किसी भी खेल की टीम को पड़ोसी देश की यात्रा करने की अनुमति नहीं देने की|

केंद्र सरकार की नीति पर अडिग रहने के कारण इस मुकाबले को तटस्थ स्थल पर आयोजित किया जा सकता है।

मार्च 1964 के बाद से किसी भी भारतीय डेविस कप टीम ने पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है और लाहौर में हुए उस मुकाबले में भारत 4-0 से जीता था।

अगर यह मुकाबला तटस्थ स्थल पर कराया जाता है तो इसके लिए आईटीएफ की सहमति चाहिए।

हालांकि विश्व संस्था शायद इससे सहमत नहीं हो क्योंकि पाकिस्तान ने पिछले साल उज्बेकिस्तान और कोरिया की मेजबानी की थी।

इस हालत में जब पाकिस्तान से बाहर खेलने के लिए स्थल पर सहमति नहीं होती है और भारत सरकार पाकिस्तान में खेलने की अनुमति देने से इनकार कर देता है|

तो देश को 1971 की तरह इस मुकाबले को बिना खेले गंवा देना होगा। इस साल सितंबर में होने वाले मुकाबले का ड्रॉ लंदन में हुआ। इसकी विजेता टीम विश्व ग्रुप क्वालीफायर में पहुंच जाएगी।

Back to top button