दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ बढ़ने से बाजार में धारणा कमजोर

एफपीआई ने शेयर बाजारों से 4,181 करोड़ रुपये और ऋणपत्र बाजार से 3,586 करोड़ निकाले रुपए

मुंबई। इस महीने घरेलू शेयर और बांड बाजार से अब तक करीब आठ हजार करोड़ रुपये की निकासी विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने की है। 2 अप्रैल से 10 अप्रैल के दौरान एफपीआई ने शेयर बाजारों से 4,181 करोड़ रुपये और ऋणपत्र बाजार से 3,586 करोड़ रुपए निकाले. मोतीलाल ओस्वाल प्राइवेट वेल्थ मैनेजमेंट के निवेश सलाह प्रमुख आशीष शंकर ने कहा,‘‘ऋणपत्र बाजार में यील्ड बढ़ने तथा व्यापार संबंधों को लेकर अनिश्चितता कायम है। घरेलू राजनीतिक गतिविधियां, उच्च मूल्यांकन और शेयरों पर दीर्घकालिक पूंजीगत लाभ पर कर के प्रावधानों से भी बाजार के प्रति धारणा कमजोर हुई है।

इसी बीच चीन और अमेरिका के बीच व्यापारिक तनाव तथा स्थानीय बाजार में बांड-यील्ड बढ़ने के रुझान के बीच विदेशी निवेशकों ने स्थानीय बाजारों से पूंजी की निकासी बढ़ा रखी है। इससे पहले मार्च में विदेशी निवेशकों ने शेयर बाजार में 11,654 करोड़ रुपये निवेश किये थे जबकि ऋणपत्र बाजार से नौ हजार करोड़ रुपये की निकासी की थी। एफपीआई ने फरवरी में घरेलू पूंजी बाजार से 11,674 करोड़ रुपये निकाले थे।

Back to top button