मौसम का हाल : नए साल में बदली मौसम ने करवट, जाने पूरी अपडेट!

वहीं, नए साल में ठंड के चलते पाला पड़ने से फसल को भी नुकसान हुआ है।

नए साल के साथ ही मौसम ने करवट बदल ली है। पहाड़ी इलाकों में शुरू हुई बर्फबारी का असर जल्द ही मैदानी इलाकों में दिखाई देगा और ठंड के साथ ओले पड़ने की आशंका भी जताई जा रही है। वहीं, नए साल में ठंड के चलते पाला पड़ने से फसल को भी नुकसान हुआ है।

जम्मू कश्मीर में हिमस्खलन व बर्फीले तूफान की चेतावनी :

जम्मू कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ मंगलवार को वायुमंडल में सक्रिय होते ही अगले चार दिन तक कश्मीर में हिमपात के साथ जम्मू संभाग के उधापर्वतीय इलाकों में बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश की पूरी संभावना है।

प्रशासन ने किसी भी आपात स्थिति से निपटने की अपनी तैयारी पूरी कर ली है।

प्रशासन ने चार व पांच जनवरी को जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर यातायात और कश्मीर में हवाई संपर्क प्रभावित होने की आशंका जताई है।

इसके अलावा उधापर्वतीय इलाकों में हिमस्खलन व बर्फीले तूफान की चेतावनी भी जारी कर दी गई है।

उत्तराखंड में मौसम ने बदली करवट, चार धाम में हिमपात

उत्तराखंड में नववर्ष का स्वागत भले ही गुनगुनी धूप से हुआ, लेकिन शाम होते-होते मौसम ने करवट बदल दी। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में बर्फबारी शुरू हो गई और निचले स्थानों में बारिश से कड़ाके की ठंड का अहसास होना शुरू हो गया।

राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि बुधवार को भी मौसम का रूख ऐसे ही रहने के आसार हैं। पर्वतीय क्षेत्रों में कहीं-कहीं हल्की बारिश के साथ ही ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी होने के संभावना है।

हिमाचल में चार जनवरी से बर्फबारी की चेतावनी

हिमाचल में नए साल के पहले ही दिन मौसम ने करवट बदल ली है। मौसम विभाग ने 48 घंटों के दौरान बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई है।

मौसम विभाग के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह के मुताबिक 4 से 6 जनवरी के बीच बर्फबारी हो सकती है। मंगलवार देर शाम मनाली के साथ सटे रोहतांग में करीब आधा फीट बर्फबारी हुई।

प्रदेश के अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी हलकी बर्फबारी की सूचना है। बर्फबारी से प्रदेश में शीतलहर का प्रकोप बढ़ गया है।

पंजाब में नए साल की सुबह सर्द, शाम भी बेदर्द

नए साल की पहली सुबह जहां सर्द थी। वहीं, शाम उससे भी ज्यादा बेदर्द रही। सुबह से शुरू हुआ सर्दी का सितम शाम तक जारी रहा।

दिन भर छाए बादलों के बीच शीतलहर ने जमकर कंपाया। सूबे में फिरोजपुर व बठिंडा सबसे ठंडे रहे।

इंडिया मैट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट चंडीगढ़ के अनुसार बठिंडा में न्यूनतम तापमान 1.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

ठंड के मामले में जालंधर व कपूरथला दूसरे नंबर पर रहे। दोनों जिलों में न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किए गए।

हरियाण में पड़ सकते हैं ओले

साल 2019 की सुबह मौसम में ठंडक बनी रही। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार दिनभर बादल छाए रहे। देर शाम चली सर्द हवाओं ने लोगों को घरों में दुबकने पर मजबूर कर दिया।

ऐसे में हिसार का तापमान 2 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग अनुसार पांच जनवरी को ओले गिरने की संभावना है।

मप्र में पाला से सवा तीन लाख हेक्टेयर की फसल को नुकसान

मध्य प्रदेश में पाला की वजह से 37 जिलों की करीब सवा तीन लाख हेक्टेयर रबी फसलों को नुकसान हुआ है। इसमें करीब 60 हजार हेक्टेयर फसल ज्यादा प्रभावित हुई है।

1.85 लाख हेक्टेयर फसल को 10 से लेकर 30 फीसदी तक क्षति बताई जा रही है। कृृषि और राजस्व विभाग ने कलेक्टरों को नुकसान का आकलन करने सर्वे कराने के निर्देश दिए हैं।

1
Back to top button