WEF से पहले मोदीनोमिक्स पर IMF की मुहर, 2018 में 7.4 तो 2019 में 7.8 ग्रोथ रेट का अनुमान

WEF से पहले मोदीनोमिक्स पर IMF की मुहर, 2018 में 7.4 तो 2019 में 7.8 ग्रोथ रेट का अनुमान

नई दिल्ली: दावोस में प्रधानमंत्री के भाषण से पहले भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए एक अच्छी खबर आई है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (MF) ने सोमवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था अगले वित्त वर्ष में 7.4 फीसदी की दर से बढ़ेगी। दावोस में विश्व आर्थिक मंच से पहले आईएमएफ ने विश्व आर्थिक परिदृश्य अपडेट में 2018 के दौरान भारत का ग्रोथ रेट 7.4 फीसदी, जबकि 2019 के लिए 7.8 फीसदी ग्रोथ रेट का अनुमान जताया है।

दावोस में मोदी 23 जनवरी को पूर्ण सत्र में भाषण देंगे, जो कि समारोह का मुख्य आयोजन होगा। मोदी विश्व आर्थिक मंच के बैठक के मौके पर अंतरारष्ट्रीय व्यापार परिषद के 120 सदस्यों से भी संवाद करेंगे। वह भारतीय कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से भी मुलाकात करेंगे।

आईएमएफ ने चीन की वृद्धि दर इस साल 6.6 फीसदी और अगले साल 6.4 फीसदी रहने का अनुमान जताया है, जबकि पिछले साल चीन दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था थी और उसकी वृद्धि दर 6.8 फीसदी रही थी। आईएमएफ का भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर अनुमान विश्व बैंक द्वारा इस महीने की शुरुआत में लगाए गए अनुमान 7.3 फीसदी से भी अधिक है।

आईएमएफ के अनुमान में वैश्विक अर्थव्यवस्था में भी सुधार का अनुमान लगाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया, ‘वैश्विक आर्थिक गतिविधियां लगातार मजबूत हो रही है और 2017 में इसकी वृद्धि दर 3.7 फीसदी रहेगी, जोकि पहले के अनुमानों से 0.1 फीसदी अधिक है और 2016 के प्रदर्शन से 0.5 फीसदी अधिक है।’

वैश्विक विकास दर के 2018 और 2019 के अनुमान में आईएमएफ ने क्रमश: 0.2 फीसदी की वृद्धि की है और यह 3.9 फीसदी रहेगी।

1
Back to top button