पश्चिम बंगाल चुनाव: बीजेपी ने घरेलू सहायिका और मनरेगा मजदूर को दिया टिकट

बीजेपी द्वारा टिकट दिए जाने के बाद काफी बदल गया कलिता मांझी का जीवन

कोलकाता:पश्चिम बंगाल बीजेपी ने एक घरेलू सहायिका कलिता मांझी और मनरेगा मजदूर चंदना बौरी को टिकट दिया हैं. कलिता मांझी पांच साल से राजनीति में एक्टिव हैं, लेकिन बीजेपी द्वारा टिकट दिए जाने के बाद उनका जीवन काफी बदल गया है.

कलिता को बीजेपी ने पूर्वा बर्दवान जिले में स्थित औसग्राम निर्वाचन क्षेत्र से टिकट दिया है. कलिता चार घरों में सहायिका का काम करती हैं और महीने में 2,500 रुपये कमाती हैं. लेकिन टिकट मिलने के बाद चुनाव प्रचार पर ध्यान केंद्रित करने और अपने निर्वाचन क्षेत्र के लोगों तक पहुंचने के लिए कलिता ने काम से एक महीने की छुट्टी ले ली है.

वहीं उनके पति सुब्रतो माझी प्लंबर का काम करते हैं. गुसकड़ा नगरपालिका के वार्ड नंबर 3 में उनकी छोटी सी झोपड़ी है. अन्य परिवारों के साथ एक तालाब के पास एक झोपड़ी में रहने वाली कलिता मांझी कहती हैं कि मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि मुझे यह अवसर मिलेगा.

अब मैं चुनाव पर ध्यान केंद्रित कर रही हूं और मुझे टिकट देने के साथ विजयी होने का आशीर्वाद भी प्रदान किया गया है. मैं पूरी कोशिश करूंगी कि क्षेत्र की जनता से मिलकर अपने लिए वोट का आग्रह कर सकूं.

एक अस्पताल का निर्माण कराना है फोकस

कलिता का कहना है कि घरेलू सहायिका होने से उन्हें आम आदमी के मुद्दों और गरीब परिवारों की दुर्दशा को समझने में मदद मिली है. अगर वह जीत जाती है तो उनके परिवार और पड़ोसियों को उम्मीद है कि वह आम जनमानस के मुद्दों पर काम कर विकास की शुरुआत करेंगी.

कलिता का कहना है कि उनका फ़ोकस अपने गांव के लोगों की मदद करने के लिए एक अस्पताल का निर्माण कराना है, ताकि जो लोग चिकित्सा सुविधा प्राप्त करने के लिए बर्दवान शहर जाते हैं उन्हें यह सफर नहीं करना पड़े. वहीं बुनियादी ढांचे के विकास और रोजगार के अवसरों जैसे अन्य मुद्दे भी उनकी सूची में शामिल हैं.

परिजनों ने दी शुभकामनाएं कलिता के पति सुब्रत प्लंबर का काम करते हैं. वहीं कलिता का एक पुत्र पार्थ आठवीं कक्षा में पढ़ रहा है. परिवार का कहना है कि वो सभी बहुत खुश हैं कि पार्टी ने कलिता को यह मौका दिया. परिजनों का कहना है कि कलिता से यही कहेंगे कि वो बेहतर करे और अपनी जीत दर्ज करे.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button