केदारनाथ को लेकर मोदी ने 2013 में ऐसा क्या दिया था प्रस्ताव, जो ‘डर’ गई थी UPA सरकार

पीएम नरेंद्र मोदी एक बार फिर इस साल दोबारा उत्तराखंड के केदारनाथ दौरे पर पहुंचे हैं. इस दौरान उन्होंने पूर्व की यूपीए सरकार पर आरोप लगाया कि तत्कालीन केंद्र सरकार ने उन्हें 2013 में आई बाढ़ के बाद पुनर्निर्माण का काम नहीं करने दिया था. आपको बता दें कि उस समय मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे.

जून 2013 में उत्तराखंड में जो तबाही आई थी, उसने पूरे राज्य की सूरत ही बिगाड़ कर रख दी थी. केदारनाथ सहित कई शहर बर्बाद हो गए थे.

उस समय पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा प्रभावित इलाकों से 15 हजार लोगों को निकालने की सामने आई थी. इस खबर की काफी चर्चा हुई थी.

उस दौरान बीजेपी के तत्कालीन अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने इस दावे को गलत बताया था. राजनाथ ने कहा था कि उनकी मोदी से बात हुई है और उन्होंने इस बात से इनकार किया है.

राजनाथ ने इन खबरों पर सवाल उठाए थे. हालांकि बाद में यह बात उत्तराखंड में बीजेपी प्रवक्ता अनिल बलुनी द्वारा कहने की बात सामने आई थी.

उस दौरान नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के प्रभावित क्षेत्रों का दो दिन का दौरा किया था. सूत्रों के अनुसार केदारनाथ के साथ मोदी का स्पेशल रिश्ता है. गुजरात के सीएम बनने से पहले वह हर साल केदारनाथ के दर्शन के लिए आते थे.

प्रधानमंत्री बनने के बाद भी मोदी ने केदारनाथ का दौरा किया. वह पहले पीएम हैं जिन्होंने केदारनाथ मंदिर के कपाट खुलने के समय और बंद होने के समय दौरा किया है.

यूपीए की सरकार डर गई थी : मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने 2013 के दौरे का जिक्र करते हुए बताया कि उस दौरान उन्होंने केदारनाथ मंदिर का पुनर्निर्माण करवाने की बात कही थी. पीएम मोदी ने बताया कि इस प्रस्ताव को लेकर उत्तराखंड के तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा से बात भी हुई थी.

साथ ही हैदराबाद की रैली में पुनर्निर्माण के‍ लिए उन्होंने लोगों से 5 रुपये के स्टैंप के जरि‍ए फंड इकट्ठा करने की बात भी कही थी.

शुक्रवार को पीएम मोदी ने उस समय की कांग्रेस की सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि तत्कालीन केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने उनका प्रस्ताव अस्वीकार कर दिया था.

पीएम मोदी के अनुसार बाढ़ के बाद पुनर्निर्माण के प्रस्ताव पर पहले राज्य सरकार और उनके अधिकारियों के साथ बैठक में सहमति बन गई थी. ऐसे में मीडिया में यह बात फैल गई कि पीएम मोदी और गुजरात सरकार केदारनाथ में बाढ़ के बाद पुनर्निर्माण का कार्य करेगी.

 पीएम मोदी ने आगे कहा कि इस बात की जानकारी मिलते ही तत्कालीन यूपीए सरकार डर गई. राज्य सरकार पर दबाव डालकर उनको यह कहने पर मजबूर किया गया कि केदारनाथ में पुनर्निर्माण का कार्य उत्तराखंड की सरकार ही करेगी.

उस दौरान गुजरात सीएम के तौर पर मोदी ने 2 करोड़ का चेक दिया था. साथ ही उन्होंने  पुनर्निर्माण के कार्य के लिए 3 करोड़ रुपये देने की बात भी कही थी.

Back to top button