टेक्नोलॉजी

वाट्सएप का दावा, डिलीवरी होते ही सर्वर से डिलीट हो जाता है मैसेज, कोई तीसरा नहीं पढ़ सकता है चैट

वाट्सएप भी उस डिवाइस के निर्माता की संचालन प्रणाली के दिशा-निर्देश का पालन करती है।

नई दिल्ली। अभी हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत मामले में ड्रग्स को लेकर उठे विवाद के बीच सालों पुराने वाट्सएप चैट ने कई परतें खोल दी थीं। तफ्तीश में जहां यह वरदान साबित हुआ वहीं यह सवाल भी खड़े होने लगे कि वाट्सएप कितना सुरक्षित है। इस बाबत वाट्सएप की तरफ से दावा किया गया है कि इस सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर दो व्यक्तियों के बीच होने वाले चैट को कोई तीसरा व्यक्ति नहीं पढ़ सकता है।

कंपनी का कहना है कि मैसेज की डिलीवरी होते ही वह मैसेज वाट्सएप के सर्वर से डिलीट हो जाता है। अगर किसी व्यक्ति के ऑफलाइन होने की वजह से किसी मैसेज की डिलीवरी नहीं होती है तो वह अधिकतम 30 दिनों तक सर्वर पर रहता है।

मुंबई घटना में वाट्सएप चैट की जानकारी के बारे में पूछे जाने पर कंपनी कहना था कि फोन या डिवाइस की संचालन प्रणाली इस बात को तय करती है कि उस डिवाइस पर चलने वाले एप से जुड़ी सूचना को कैसे स्टोर करना है। वाट्सएप भी उस डिवाइस के निर्माता की संचालन प्रणाली के दिशा-निर्देश का पालन करती है।

हाल ही में एक रिपोर्ट आई थी जिसमें कहा गया था कि Whatsapp अपने लेटेस्ट फीचर Expiring messages की टेस्टिंग कर रहा है। इस फीचर को व्हाट्सएप एंड्रॉयड बीटा वर्जन 2.20.197.4 पर स्पॉट किया गया है। इस फीचर की खास बात यह है कि यूजर्स इसके जरिए सात दिनों के बाद भी भेजे गए मैसेज को ऑटो-डिलीट कर सकते हैं।

उल्‍लेखनीय है कि एनसीबी के एक अधिकारी ने बीते दिनों बताया था कि रिया चक्रवर्ती कथित तौर पर अपने भाई शौविक के जरिए मादक पदार्थ मंगवाती थी और इसे सुशांत सिंह राजपूत को मुहैया करवाती थी। वाट्सऐप चैट में मादक पदार्थ से जुड़ी बात सामने आने के बाद जांच की शुरुआत हुई थी। प्रवर्तन निदेशालय को रिया और उसके परिवार के खिलाफ धन शोधन की जांच में इस चैट के बारे में पता चला था। इसके बाद ईडी ने एनसीबी को सूचित किया था।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button