छत्तीसगढ़

जब कोरेक्स से भरी मिली सरपंच की गाड़ी

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा संवाददाता : मनीषा त्रिपाठी

बिलासपुर– मस्तूरी पुलिस ने बीती रात्रि करीब पाराघाट सरपंच को कोरेक्स स्टाक के साथ हिरासत में लिया है, जिसके पास से भारी मात्रा में कोरेक्स सिरप बरामद किया गया है,वही इसके साथ ही मस्तूरी पुलिस ने पूछताछ के बाद बलौदा बाजार से सप्लायर को भी हिरासत में लिया है,वही आरोपियों पर एनडीपीएस के तहत कार्रवाई होगी।

मस्तूरी थाना प्रभारी फैजुल शाह ने बताया कि बीती रात्रि मुखबीर की सूचना पर पाराघाट सरपंच प्रदीप सोनी को पुलिस ने भारी मात्रा में कोरेक्स के साथ हिरासत में लिया है,मस्तूरी पुलिस ने गुप्त सूचना पर प्रदीप सोनी की गाड़ी डस्टर में तलाशी की जिसमे तकरीबन चालिस से अधिक कोरेक्स शीशियों को बरामद किया गया,इसके बाद पुलिस पाराघाट सरपंच को लेकर पूछताछ के लिए थाना ले गयी,पूछताछ के बाद पुलिस ने बलौदा बाजार से एक सप्लाहयर को भी हिरासत में लिया है,बताया जा रहा है कि सप्लायर के पास से उम्मीद से अधिक कोरेक्स स्टाक बरामद किया गया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पाराघाट सरंपंच नशे का आदि है,गांव वाले सरपंच से खासे परेशान है,मौके पाते ही ग्रामीणों में से ही किसी ने पुलिस को कोरेक्स होने की जानकारी दी,पुलिस ने धावा बोलकर प्रदीप सोनी समेत भारी मात्रा में कोरेक्स को बरामद किया है।

वही अब देखा जाए तो अगर गांव का मुखिया मतलब कर्ताधर्ता ही नशे का कारोबार करने लगे तो फिर गांव की हालत क्या होगी यह आप समझ सकते है,गांव का सरपंच मतलब जिसे गांव वालों ने गांव के विकास और गांव का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना है वह खुद ऐसा गंदा काम कर रहा है जिसे सोचकर भी खराब लग रहा है।

सूत्रों की माने तो सरपंच प्रदीप सोनी के द्वारा ग्राम पंचायत को नशे की चपेट में लेते हुए इस प्रकार का काम करीब 10 वर्षों से कर रहा है,तो वही सरपंच की लापरवाही से गाँव नशे की लत में जा रहा था,इतना ही नही बल्कि इसने पुलिस को सेटिंग करने की भी कोशिश की लेकिन पुलिस के सामने इसकी एक नही चली और अब पुलिस की गिरफ्त में है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button