जब करुणानिधि के हाथों मिला था अमिताभ बच्चन को पहला नेशनल अवॉर्ड

तमिलनाडु के पांच बार के मुख्यमंत्री और डीएमके चीफ एम. करुणानिधि ने मंगलवार शाम को अपनी आखिरी सांसें ली।

राजनीतिक समर्थकों से लेकर साउथ इंडियन और हिंदी फिल्मो इंडस्ट्रीत के कई दिग्गaज सितारे उनकी शोक सभा में मौजूद थे।

जहां सुपरस्टार रजनीकांत और धनुष जैसे सितारे उनकी शोक सभा में पहुंचे, वहीं बॉलीवुड के शाहंशाह कहलाने वाले अमिताभ बच्चनन ने भी उनके जाने पर शोक जताया है।

तमिलनाडु के पांच बार के मुख्यमंत्री और डीएमके चीफ एम. करुणानिधि ने मंगलवार शाम को अपनी आखिरी सांसें ली। उन्हें एक कद्दावर नेता माना जाता था और उनकी मृत्यु के बाद तमिल सिनेमा से लेकर आम लोगों तक में शोक की लहर है।

मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने भी उन्हें याद किया और उस पल का ज़िक्र किया जब उन्हें करुणानिधि के हाथों पहला नेशनल अवार्ड मिला था। राजनीतिक समर्थकों से लेकर साउथ इंडियन और हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के कई दिग्ग ज सितारे उनकी शोक सभा में मौजूद थे। जहां सुपरस्टार रजनीकांत और धनुष जैसे सितारे उनकी शोक सभा में पहुंचे, वहीं बॉलीवुड के शाहंशाह कहलाने वाले अमिताभ बच्चगन ने भी उनके जाने पर शोक जताया है।

अमिताभ बच्चेन ने एक ट्वीट के सहारे करुणानिधि को श्रद्धांजलि दी है। उन्होंहने लिखा,सम्माानीय और बहुमुखी प्रतिभा के धनी नेता श्री करुणानिधि के लिए.. मैंने अपनी फिल्मच सात हिंदुस्तारन के लिए पहला राष्ट्री य पुरस्काहर उन्हींह से प्राप्तख किया था। तब यह समारोह चेन्नई में हुआ था और वे मुख्यमंत्री थे।

गौरतलब है कि अमिताभ बच्चन ने 15 फरवरी 1969 को सात हिंदुस्तानी फिल्म साइन की थी। सात हिंदुस्तानी में टीनू आनंद के हटने के बाद ये रोल अमिताभ बच्चन को मिला था। इस फिल्म में अमिताभ के किरदार का नाम भी उनके एक दोस्त (अनवर अली) के नाम पर रखा गया था। अमिताभ बच्चन को अपने पहले रोल के लिए 5000 रूपए मिले थे।

उस दौरान टीनू आनंद ने अमिताभ बच्चन से बात करते हुए कहा था कि चाहे ये फिल्म एक साल में बने या पांच साल में, ये रकम ही तुम्हारी पूरी कमाई होगी। इसके अलावा साउथ के सुपरस्टार कमल हासन भी इस मौके पर काफी भावुक हो गए।

उन्होंने कहा कि ‘मैं उन्हें एक पॉलिटिशयन से पहले एक लेखक के तौर पर जानता था। हम करूणानिधि की भाषा ही बोलते थे। उनकी लेखनी में गज़ब का फ्लो था। तमिल लोगों को एक लीडर की तलाश थी और ये तलाश करूणानिधि पर जाकर खत्म हुई थी।’

<>

Tags
Back to top button