जब विपक्ष के नेता को फोन कर कमलनाथ ने कही इस्तीफा देने की बात

भोपाल: मध्यप्रदेश में सियासी ड्रामा के बीच मतगणना के दूसरे दिन सुबह कमलनाथ ने तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को फोन किया. इससे पहले कि कमलनाथ शिवराज से कुछ कहते, शिवराज ने कहा था कि मैं इस्तीफ़ा देने जा रहा हूं.

मध्यप्रदेश की जनता ने आपको मैंडेट दिया है, आप सरकार बनाइए. इसके बाद कमलनाथ ने शिवराज के घर आकर उनसे मुलाकात की थी, जिसे उस वक्त एक शिष्टाचार मुलाकात कहा गया था.

कहते हैं न कि इतिहास अपने आप को दोहराता है. 15 महीने बाद 20 मार्च 2018 को जब कमलनाथ बहुमत जुटाने में असफल रहे और 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करने जा रहे थे, उससे पहले उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को फ़ोन कर बताया कि मैं मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा देने जा रहा हूं.

उस वक़्त शिवराज सिंह बीजपी के 105 विधायकों के साथ सीहोर के रिसोर्ट से निकलकर विधानसभा जा रहे थे, जहां कमलनाथ सरकार को 2 बजे अपना बहुमत साबित करना था.

शिवराज सिंह चौहान इस बीच विधानसभा भी गए. बीजपी विधायको के साथ पार्टी दफ़्तर भी गए, लेकिन इन सभी व्यस्तताओं के बीच भी उन्होंने कमलनाथ से फोन पर समय मांगा और शाम 6.30 बजे जाकर उनसे मुलाकात की. अब कौन कह सकताहै कि नेता संजीदा नहीं होते.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button