जब नहीं सुलझा मिशन हॉस्पिटल प्रबंधन का मसला, जानें फिर क्या हुआ

-नर्सों ने 20 महिला समूह बनाकर पुलिस अधीक्षक से किया दबाव बनाने की कोशिश

मनीष शर्मा

मुंगेली।

मुंगेली में संचालित मिशन अस्पताल के डायरेक्टर अनिल हेनरी का पूरा कार्यकाल वैसे तो सुर्खियों में ही रहा है। मगर दो दिन पूर्व प्रबंधन के समक्ष अपना इस्तीफा डायरेक्टर अनिल हेनरी ने देकर अपनी सेवा से अलग होना अपनी भविष्य के लिए बेहतर समझा।लेकिन लंबे समय से हॉस्पिटल प्रबंधन के अनुसार नर्सों के सेवा शर्तों में नही रहते हुए यूनियन बाजी करने,वर्ग विशेष राजनैतिक दबाव से नर्सो के द्वारा कार्य करते रहने की बात प्रबंधन कह रही है.

हालांकि आज पुलिस अधीक्षक से मिलने 30 हॉस्पिटल नर्सों का समूह दुर्व्यवहार और अपनी अन्य शिकायतों के माध्यम से पुलिसिया कार्यवाही के लिए दबाव बनाने का प्रयास किया गया.

वही दूसरी ओर प्रबंधन व अन्य लगभग 150 की तादाद में पुलिस अधीक्षक से मिलने व नर्सों के सेवा शर्तों में नही रहते हुए मनमानी काम करने की सफाई दी गई.

हालांकि दोनों पक्षों की बात सुन पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर ने प्रथम दृष्टया पूरा मामला अस्पताल प्रबंधन व स्टाफ नर्स के अपने अनुबंध अनुसार सेवा देने व मर्यादित रहकर कार्य संचालित नही होने जैसे विषय पर पुलिस हस्तक्षेप जैसी आपराधिक अथवा अन्य बात नही दिखी।

फिर भी स्टाफ नर्स के समूह की शिकायत लेकर मामले की जांच उपरांत कार्यवाही करने महिला थाना प्रभारी कविता ध्रुवे को कहा गया।आज दिनभर पुलिस हॉस्पीटल प्रबंधन व नर्सो के शिकायत बयान जांच की कार्यवाही के साथ कोई अप्रिय स्थिति ना बने जिसके लिए एहतियातन पुलिस जवान भी मिशन अस्पताल पर रहे।

मिशन हॉस्पिटल में कार्यरत 20 नर्सों ने आज जिले के एसपी से मिलकर अस्पताल के डायरेक्टर अनिल हेनरी के खिलाफ काम के दौरान प्रताड़ित और अश्लील बाते करने का आरोप लगाते हुए नर्सों ने बताया कि विरोध करने पर बॉन्ड तोड़ कर अस्पताल से निकालने व जान से मारने की धमकी दी जा रही है।

वही इस पूरे मामले पर पुलिस ने शिकायत दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है। गौरतलब है, मिशन अस्पताल के डायरेक्टर अनिल हेनरी के पुराने करतूतों को देखते हुए प्रबंधन ने हाल ही में अनिल हेनरी से त्यागपत्र लेकर सेवा से अलग कर दिया गया है ।

Back to top button